दैनिक भास्कर हिंदी: पंजाब: बिजली संकट को लेकर सिद्धू ने बादल सरकार पर दागे सवाल, खुद 9 महीने से नहीं भरा घर का बिल

July 2nd, 2021

डिजिटल डेस्क, अमृतसर। सियासी गर्मी के बीच पंजाब में बिजली संकट (power crisis in Punjab) मंडरा रहा है। इस मामले को लेकर शुक्रवार को कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू (Congress leader Navjot Singh Sidhu) ने एक बार फिर खुलकर मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Chief Minister Captain Amarinder Singh) पर निशाना साधा है। नवजोत सिंह सिद्धू ने पंजाब में आए बिजली संकट को लेकर लगातार कई ट्वीट किए और राज्य सरकार से सवाल पूछे। उन्होंने ने ट्वीट कर कहा कि पंजाब में पावर कट या एसी चलाने के लिए टाइमिंग फिक्स करने की कोई जरूरत नहीं है। अगर सही तरीके से काम किया जाए तो पंजाब इस वक्त 4.54 प्रति यूनिट के हिसाब से बिजली खरीद रहा है, जो राष्ट्रीय और चंडीगढ़ के औसत से काफी ज्यादा है।

पंजाब सरकार नेशनल ग्रिड से खरीदी बिजली
मामले में नवजोत सिंह सिद्धू ने आरोप लगाया कि पंजाब किसी अन्य राज्य से अधिक पैसे देकर बिजली खरीदता है। सिद्धू ने कहा कि पूर्व की बादल सरकार ने तीन कंपनियों से बिजली खरीद की बात तय की थी, 2020 तक हम उन्हीं कंपनियों से बिजली खरीदते आ रहे थे, लेकिन अब पंजाब को नेशनल ग्रिड से बिजली खरीदनी चाहिए क्योंकि यहां पर बिजली सस्ती मिलेगी। नवजोत सिंह सिद्धू ने आगे कहा कि पंजाब विधानसभा (Punjab Assembly) में एक कानून पेश किया जा सकता है, जिससे बिजली के दामों पर एक कैप लगाई जा सकती है। ऐसा करने से पंजाब के लोगों का पैसा बच जाएगा। पंजाब में एक यूनिट पर होने वाली कमाई सबसे कम है, कंपनियों को प्रति यूनिट का चार्ज अधिक देना पड़ता है।

बिजली को लेकर पंजाब बनाए अपना अलग मॉडल
वहीं, कांग्रेस नेता ने अपने अगले ट्वीट में कहा कि पंजाब 9 हजार करोड़ रुपए सब्सिडी में देता है और दिल्ली सिर्फ 1699 करोड़ रुपए देता है। उन्होंने अपने ट्वीट के जरिए कहा कि अगर पंजाब दिल्ली का मॉडल अपनाता है तो उसे बचत होगी, लेकिन पंजाब को अपना एक अलग मॉडल बनाना चाहिए। नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि निजी ताप संयत्रों को अनुचित और अत्यधिक लाभ देने पर खर्च किए गए पैसे लोगों के फायदे के लिए इस्तेमाल किया जाना चाहिए। घरेलू उपयोग के लिए मुफ्त बिजली के लिए सब्सिडी देनी (300 यूनिट तक), 24 घंटे की आपूर्ति और शिक्षा, स्वास्थ्य देखभाल में निवेश करना ही पंजाब के लिए बेहतर बिजली मॉडल है

नवजोत ने पिछले 9 माह से नहीं भरा है खुद के घर का बिजली बिल
शुक्रवार को कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने बिजली संकट (power crisis) को लेकर अपनी ही पार्टी की सरकार पर निशाना साधा। इस बीच ये बात भी निकल कर सामने आई है कि बिजली संकट पर सवाल खड़े करने वाले नवजोत सिंह ने पिछले करीब नौ महीने से अपने खुद के घर का बिजली बिल नहीं भरा है। उन पर कुल 8 लाख 67 हजार 540 रुपए बकाया है। एक तरफ नवजोत बिजली संकट को लेकर पंजाब की कांग्रेस सरकार और पूर्व की अकाली सरकार को घेर रहे थे, लेकिन अब जब उनके खुद के बिजली बिल से जुड़ी बात सामने आई है तो उन पर ही सवाल खड़े हो रहे हैं।