दैनिक भास्कर हिंदी: पवार के पावर से मोदी का संतुलन बिगड़ता है, इसलिए कर रहे विरोध: जयंत पाटील 

April 5th, 2019

डिजिटल डेस्क,नागपुर। एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण पर राकांपा की ओर से पलटवार किया गया है। राकांपा के प्रदेश अध्यक्ष जयंत पाटील ने कहा है कि शरद पवार के पावर से मोदी का संतुलन बिगड़ता है। इसलिए वे पवार के  विरोध में बोलने लगे हैं। राज्य में भाजपा व शिवसेना के साथ जो दल नहीं हैं, उन्हें एकत्रित करने की क्षमता केवल पवार में है। पवार की ओर से मिलनेवाली चुनौती को ध्यान में रखते हुए ही प्रधानमंत्री की ओर से व्यक्तिगत आलोचना की जाने लगी है।

एनसीपी उम्मीदवार के प्रचार के सिलसिले में शुक्रवार को नागपुर में पहुंचे पाटील पत्रकारों से चर्चा कर रहे थे। उन्होंने कहा,आज तक चुनावों में प्रधानमंत्री भारत सरकार की नीति, योजना, विदेश नीति के बारे में बताते रहते थे। प्रधानमंत्री मोदी तो विपक्ष व विपक्ष के प्रमुखों को ध्वस्त कर देने का दांवपेंच चल रहे है। भंडारा-गोंदिया में प्रधानमंत्री मोदी ने भाषण में पवार के विरोध में जमकर बोला था। पाटील ने कहा कि पवार के बारे में प्रधानमंत्री मोदी ने निम्न स्तर के आरोप लगाए हैं। विवादित बयानों के साथ वे पवार को अड़चन में लाना चाहते हैं। पहले मोदी ही कहा करते थे कि शरद पवार से उन्हें राजनीतिक कार्य की प्रेरणा मिलती है। किसानों की समस्या के मामले में पवार से चर्चा में समाधान निकलता है। पवार किसानों की समस्या के मामलों के जानकार हैं।

अब अचानक पवार के विरोध में बोला जाने लगा है, लेकिन इस विरोध का लाभ भी भाजपा शिवसेना को नहीं मिल पाएगा। अब तक मंत्री धमकियां देते थे। अब मोदी धमकी देने लगे हैं। 5 वर्ष में भाजपा शिवसेना के बीच कई बार विवाद हुआ। ऐसे में शिवसेना के साथ गठबंधन की क्यों जरूरत पड़ी, इस बारे में मोदी व भाजपा को जवाब देना चाहिए। एक सवाल पर राकांपा के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि प्रकाश आंबेडकर को कांग्रेस राकांपा गठबंधन में शामिल करने के लिए हाथ बढ़ाया गया था। प्रकाश आंबेडकर कहते रहते हैं कि संविधान पर संकट है। यह संकट भाजपा की ओर से लाया जा रहा है। लेकिन अब आंबेडकर को ही सोचना होगा कि उनकी भूमिका का लाभ भाजपा को मिलेगा या नहीं। पत्रकार वार्ता में पूर्व मंत्री अनिल देशमुख, विधानपरिषद सदस्य प्रकाश गजभिये, ज्वाला धोटे, प्रवीण कुंटे, अनिल अहिरकर व अन्य पदाधिकारी थे।

खबरें और भी हैं...