comScore

नीट एग्जाम : बायोलाजी ने दिलाई राहत फिजिक्स ने निकाला पसीना

नीट एग्जाम : बायोलाजी ने दिलाई राहत फिजिक्स ने निकाला पसीना

डिजिटल डेस्क, नागपुर। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) द्वारा नागपुर समेत देशभर के 155 शहरों में नेशनल इलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (नीट) का आयोजन किया गया। नागपुर से करीब 25 हजार तो देशभर से करीब 15 लाख विद्यार्थियों ने यह परीक्षा दी। 
जेईई मेन्स परीक्षा की ही तरह कड़े सोशल डिस्टेंसिंग नियमों के तहत यह परीक्षा दोपहर 2 बजे से शाम 5 बजे तक आयोजित की गई। पेन-पेपर मोड में ली जाने वाली इस परीक्षा में बायोलॉजी के अासान प्रश्नों ने विद्यार्थियों को राहत दिलाई। केमेस्ट्री मॉडरेट रहा तो फिजिक्स के प्रश्न हल करने में विद्यार्थियों को खासी मशक्कत करनी पड़ी। तीनों विषयों से कुल 180 प्रश्न 720 अंकों के लिए पूछे गए थे। प्रत्येक सही उत्तर के लिए 4 अंक व गलत उत्तर के लिए मायनस 1 अंक निर्धारित था। अंग्रेजी, हिंदी समेत कुल 11 भाषाओं में यह परीक्षा ली गई।

परीक्षा केंद्रों के बाहर लगा जाम
शहर के कॉलेजों और सीबीएसई स्कूलों में परीक्षा के केंद्र बनाए गए थे। ग्रामीण क्षेत्रों में भी परीक्षा के केंद्र बनाए गए थे। शहर के विद्यार्थियों को भी ग्रामीण क्षेत्र के परीक्षा केंद्रों पर जाकर परीक्षा देनी पड़ी। 5 बजे पेपर छूटने के बाद शहर के परीक्षा केंद्रों के बाहर ट्रैफिक जाम हो गया। शहर के दीक्षाभूमि स्थित डॉ. बाबासाहब आंबेडकर कॉलेज के सामने ऐसी ही स्थिति थी।  हुआ यूं कि, परीक्षा के लिए अधिकांश विद्यार्थी निजी वाहनों से पहुंचे थे। बाहरी विद्यार्थियों के पालक तो चारपहिया वाहन लेकर पहुंचे। इससे परीक्षा केंद्रों के बाहर चारपहिया वाहनों की कतारें लग गईं।  कॉलेज के बाहर सड़क निर्माणकार्य अधूरा है, इसलिए पेपर छूटने के बाद केंद्र के बाहर ट्रैफिक जाम हो गया। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग की भी धज्जियां उड़ती नजर आईं।

इन नियमों का हुआ पालन
 रविवार को सुबह 11 बजे से विद्यार्थियों को रिपोर्टिंग के स्लॉट दिए गए थे।  विद्यार्थियों के तापमान की जांच के बाद उन्हें परीक्षा केंद्र में प्रवेश दिया गया। एनटीए आधे इनविजिलेट परीक्षा कक्ष में और आधे बाहर भीड़ नियंत्रण में तैनात करने के निर्देश परीक्षा केंद्रों को दिए थे। परीक्षा केंद्र पर सीसीटीवी कैमेरे से निगरानी रखी गई। कक्ष में एक बेंच छोड़कर विद्यार्थियों को बैठाया गया। इसके अलावा विद्यार्थियों और परीक्षा केंद्रों को एक विस्तृत गाइडलाइन का पालन करने को कहा गया था। विद्यार्थियों को अपने साथ घर से लाए मास्क भी उतार कर परीक्षा केंद्र पर दिए गए 3 प्लाय मास्क पहनने पड़े। परीक्षार्थी को अपने साथ सिर्फ पारदर्शी बॉल पेन, अपनी पासपोर्ट साइज फोटो, 50 मिलि हैंड सैनिटाइजर और पारदर्शी सैनिटाइजर ले जाने की अनुमति दी गई थी। 
 

कमेंट करें
BecZJ