रोड़ा: नागपुर-जबलपुर ट्रेन शुरू करने का प्रस्ताव मंजूर नहीं

February 9th, 2022

डिजिटल डेस्क, नागपुर।   नागपुर से जबलपुर ट्रेन शुरू करने का प्रस्ताव अब तक मंजूर नहीं हुआ है, जिसके कारण नागपुर-जबलपुर-नागपुर ट्रेन शुरू किए जाने की मांग ठंडे बस्ते में चली गई है। दपूम मंडल रेल प्रबंधक मनिंदर उप्पल ने बताया कि फिलहाल नागपुर-जबलपुर ट्रेन शुरू नहीं होगी। उन्होंने बताया कि सतपुड़ा नैरोगेज अमान परिवर्तन योजना के तहत नैनपुर-सिवनी-छिंदवाड़ा के बीच गेज कन्वर्जन का काम चल रहा है। 142 किमी. लंबे इस रेलमार्ग में से 90 किलोमीटर का काम पूर्ण हो गया है। शेष 52 किलोमीटर लंबे रेलमार्ग  को जल्द ही पूरा करने का प्रयास किया जा रहा है।  कमिश्नर ऑफ रेलवे सेफ्टी इसी माह में विकासकार्य का निरीक्षण कर सकते हैं। 

चौथी लाइन का काम शुरू नहीं : इस रूट पर चौथी लाइन का काम शुरू होने की बात को सिरे से खारिज करते हुए मनिंदर उप्पल ने बताया कि जबलपुर से गोंदिया तक सिंगल लाइन शुरू है। इस रूट पर डबल लाइन का प्रयोजन नहीं किया गया है, जबकि गोंदिया से नागपुर तक तीसरी लाइन का काम शुरू है तथा वह जल्द ही  पूर्ण हो जाएगा। सिवनी- छिंदवाड़ा- नैनपुर के बीच गेज कन्वर्जन का काम पूर्णता की ओर है। गौरतलब है कि इस विकासकार्य के तहत सिवनी स्टेशन का निर्माण और उसके आसपास पटरी बिछाने का काम चल रहा है। ये कार्य इसी माह पूरा करने की कवायद दक्षिण पूर्व मध्य रेल कर रहा है। यह तैयार होने पर सिवनी और छिंदवाड़ा भी ब्रॉडगेज से जुड़ जाएगा। इस रूट पर गेज कन्वर्जन के साथ ही इलेक्ट्रिफिकेशन का कार्य भी चल रहा है।

घटेगी दूरी, सस्ती होगी यात्रा : जबलपुर-गोंदिया ब्रॉडगेज बनने से पहले जबलपुर से इटारसी-बैतूल-पांढुर्ना होकर नागपुर तक रेलमार्ग था। गेज कन्वर्जन से नैनपुर होकर नागपुर के लिए तीन मार्ग हो जाएंंगे। कटंगी-तिरोड़ी के बीच नई ब्रॉडगेज लाइन बनने से बालाघाट से नागपुर सीधा जुड़ गया है। नैनपुर-सिवनी-छिंदवाड़ा तक गेज कन्वर्जन के बाद जबलपुर से नागपुर तक के लिए यह एक और वैकल्पिक मार्ग होगा। छिंदवाड़ा-नागपुर के बीच ब्रॉडगेज का काम पहले ही पूरा किया जा चुका है। इटारसी के मुकाबले नैनपुर होकर नागपुर की दूरी करीब 175 किमी तक कम होगी। इससे किराया कम लगेगा और सफर भी जल्द पूरा होगा।