comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

अब इंतजार नहीं , 24 x 7 सेवा में मनपा की 25 एंबुलेंस

अब इंतजार नहीं , 24 x 7 सेवा में मनपा की 25 एंबुलेंस

डिजिटल डेस्क, नागपुर। कोरोना संकट में अनेक मरीजों को समय पर एंबुलेंस नहीं मिलने की शिकायतें  हैं। अगर मिल भी जाए तो दो-तीन कि.मी. दूरी के लिए हजारों रुपए देने पड़ते हैं। इसे देखते हुए नागपुर महानगरपालिका द्वारा मनपा की ‘आपली बस’ सेवा के 25 मिनी बसों को एंबुलेंस में परिवर्तित किया गया है। महापौर दयाशंकर तिवारी की संकल्पना व परिवहन समिति के सदस्य बंटी कुकड़े की पहल से इन बसों को एंबुलेंस में परिवर्तित किया गया है। मनपा मुख्यालय में इन बसों को हरी झंडी दिखाई गई है। इस अवसर पर उपमहापौर मनीषा धावड़े, स्थायी समिति सभापति प्रकाश भोयर, विरोधी पक्षनेता तानाजी वनवे, परिवहन समिति सदस्य जितेंद्र कुकड़े, आरोग्य समिति सभापति महेश महाजन, अतिरिक्त आयुक्त संजय निपाणे, परिवहन व्यवस्थापक रवींद्र भेलावे, वैद्यकीय आरोग्य अधिकारी डॉ. संजय चिलकर, अतिरिक्त वैद्यकीय आरोग्य अधिकारी डॉ.विजय जोशी, परिवहन विभाग के अधिकारी रवींद्र पागे, अरुण पिपुरडे, योगेश लुंगे, विनय भारद्वाज आदि उपस्थित थे। 

मरीजों की नि:शुल्क सेवा के लिए मनपा की पहल 
शिकायतों को देख उठाया कदम : एंबुलेंस का लोकार्पण के बाद इसकी उपलब्धता के लिए 0712-2551417, 9096159472 पर संपर्क करने को कहा गया है। महापौर तिवारी ने कहा कि पिछले कुछ दिनों में सोशल मीडिया पर एंबुलेंस को लेकर अनेक शिकायतें प्राप्त हुई हंै। दो से तीन कि.मी. के लिए एंबुलेंस चार-पांच हजार रुपए शुल्क वसूल रही है। इस संकट में अपनी परिस्थिति के कारण अस्पताल तक न पहुंचे, ऐसी नौबत न आए। इसलिए मनपा ने त्वरित भूमिका लेकर अापली बस सेवा के 25 मिनी बसों को एंबुलेंस में परिवर्तन किया है। बंटी कुकड़े ने इसके लिए पहल की है। 

सिर्फ 10 दिन में तैयार  
सिर्फ 10 दिन में इसे तैयार किया गया है। एंबुलेंस में ऑक्सीजन की भी व्यवस्था की गई है। बस के चालकों को मनपा डॉक्टरों के माध्यम से ऑक्सीजन लगाने का प्रशिक्षण दिया गया है। एंबुलेंस की जानकारी के लिए परिवहन विभाग में कक्ष स्थापित किया गया है। दिए गए नंबरों पर संपर्क करने पर नि:शुल्क एंबुलेंस उपलब्ध होगी। स्वास्थ्य विभाग पर काम का दबाव देखते हुए परिवहन विभाग की स्वतंत्र व्यवस्था तैयार की गई है। व्यवस्था के प्रमुख गिरीश महाजन होंगे। 

चालक-वाहक का 10-10 लाख का बीमा
बंटी कुकड़े ने बताया कि बस ऑपरेटर्स को निर्देश दिए गए हैं कि बस चालक और वाहक का 10-10 लाख रुपए का स्वास्थ्य बीमा निकाला जाए। अगर चालक या वाहक को कोरोना होता है तो उसे बीमा का लाभ मिलेगा। एंबुलेंस में सेवा देने वाले सभी चालक और वाहक कोविड योद्धा के रूप में सेवारत रहेंगे। नागरिकों को 24 घंटे सेवा मिले, इसके लिए 25 एंबुलेंस के संचालन के लिए 75 चालक व 75 वाहकों की नियुक्ति की गई है। प्रत्येक चालक व वाहक की 6-6 घंटे की ड्यूटी रहेगी। 

कमेंट करें
Xa6Sv