• Dainik Bhaskar Hindi
  • State
  • Now Remedesvir medicine will not be available in medical stores, will be made available directly to the hospital

दैनिक भास्कर हिंदी: अब मेडिकल स्टोर्स में नहीं मिलेगी रेमडेसिविर दवा, सीधे हास्पिटल को कराएंगे उपलब्ध

April 8th, 2021

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  रेमडेसिविर की कालाबाजारी की शिकायत के बाद सरकार ने इसके मेडिकल स्टोर्स से बिक्री पर रोक लगा दी है। जिलाधिकारी रवींद्र ठाकरे ने कहा कि रेमडेसिविर दवा के स्टॉक की जानकारी ली जा रही है। अब मेडिकल स्टोर्स से यह दवा नहीं बेची जा सकेगी। आपूर्तिकर्ता सीधे हॉस्पिटल को और हॉस्पिटल संबंधित मेडिकल स्टोर्स को उपलब्ध कराएंगे। रेमडेसिविर की आपूर्ति हॉस्पिटलों में सुचारु करने और देखरेख व नियंत्रण के लिए उपविभागीय अधिकारी (शहर) शेखर घाडगे, अन्न व औषधि प्रशासन के सहायक आयुक्त पुष्पहास बल्लाल की नियुक्ति की गई है। यह सुनिश्चित करेंगे कि रेमडेसिविर की कमी न हो।

ऑक्सीजन की कमी नहीं : रेमडेसिविर दवाई की आपूर्ति स्टॉकिस्ट द्वारा केवल कोविड हॉस्पिटल और उससे संबंधित फार्मेसी को किया जाएगा। जिलाधिकारी ने कहा कि नागपुर जिले में ऑक्सीजन का पर्याप्त स्टॉक है। जिले के ऑक्सीजन उत्पादकों के अलावा भिलाई स्टील प्लांट से भी आपूर्ति होने का भरोसा दिलाया गया है। निजी अस्पतालों में आरटीपीसीआर लैब की जांच, अन्न व औषधि प्रशासन विभाग की टीम के जरिए की जा रही है। एफडीए टेस्ट के संख्या की अपलोडिंग व बिल में अंतर की शिकायतों की भी जांच कर रहा है।

बेड सहित अन्य जानकारी के लिए यहां संपर्क करें जिले में नागरिकों को सरकारी और निजी अस्पतालों में बेड, आईसीयू बेड, ऑक्सीजन की उपलब्धता की जानकारी एक कॉल पर उपलब्ध कराने के लिए जिलाधिकारी कार्यालय में 24 घंटे कार्यरत कॉल सेंटर तैयार किया गया है। इसका संपर्क नंबर 0712-2562668 है। टोल फ्री क्रमांक 1077 पर भी नागरिकों से संपर्क करने का आह्वान जिलाधिकारी ने किया।

6 मिनट में जांच
जिलाधिकारी ने कहा कि होम क्वारेंटाइन के मरीज लक्षण दिखने पर तुरंत उपचार शुरू करें। गांव में आशा व आंगनवाड़ी सेविका मार्फत स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध है। कोरोना के लिए स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा दी गई सलाह अनुसार 6 मिनट तेज गति से चलकर अपनी जांच स्वयं करें। इसमें चलने के पहले का ऑक्सीजन स्तर और चलने के बाद का ऑक्सीजन स्तर में अगर 4 से ज्यादा फर्क आ रहा है, तो वह गंभीर है। बुखार, सर्दी, खांसी होने पर समय बर्बाद न करते हुए जल्द वैद्यकीय उपचार शुरू करें।