दैनिक भास्कर हिंदी: अब होगा मोबाइल से अनारक्षित रेल टिकट बुक, नागपुर मंडल पर 12 अक्टूबर से होगा लागू

October 11th, 2018

डिजिटल डेस्क, नागपुर। रिजर्व टिकटों की तरह अब मोबाइल के माध्यम से अनारक्षित रेल टिकट भी मिलेगी। मध्य रेलवे नागपुर मंडल अंतर्गत 12 अक्तूबर से यात्रियों को इस सुविधा का लाभ मिलने जा रहा है। इसके लिए यात्रियों को करना सिर्फ इतना होगा, अपने मोबाइल में यूटीएस एप डाउनलोड़ कर यूटीएस एप्लीकेशन में लॉग इन करने के बाद शहर चुनें, रूट चुनें और स्टेशन चुनना पड़ेगा। प्रक्रिया पूरी करने के बाद आर- वॉलेट से पेमेंट करना पड़ेगा। आपको टिकट मोबाइल पर मिल जाएगी। इससे एक ओर यात्रियों को लंबी कतार से छुटकारा मिलेगा। वही दूसरी ओर पीआरएस की भीड़ छट जाएगी।  

नागपुर स्टेशन की बात करे तो यहां रोजाना 20 हजार से ज्यादा टिकटें बनती है। जिसमें 5 हजार टिकटें अनारक्षित या प्लेटफार्म होती है। आरक्षित टिकट तो यात्री अपने मोबाइल या कम्प्यूटर के माध्यम से कर लेते हैं। लेकिन अनारक्षित टिकटों के लिए यात्रियों को टिकट काउंटर पर या स्टेशन परिसर में लगे एटीवीएम या कॉइन टिकट वेंडिग मशीन पर निर्भर रहता है। लेकिन टिकट काउंटर पर भीड़ व शोपीस बने वेंडिग मशीन के कारण यात्रियों को टिकट प्राप्त करने में बहुत ज्यादा परेशान होना पड़ता है। लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। क्योंकि अब स्टेशन से 30 मीटर से 2 किमी के दायरे में रहकर अपने मोबाइल से यात्री अनारक्षित टिकटें केवल पैसेंजर गाड़ियों के नहीं बल्कि एक्सप्रेस गाड़ियों के भी बुक कर सकेंगे।

सेंटर फॉर रेलवे इन्फॉरमेशन सिस्टम (क्रिस) द्वारा तैयार अनारक्षित टिकटिंग ऐप (यूटीएस) के जरिये टिकट बुक कर सकते है । नागपुर मंडल पर इस ऑनलाइन यूटीएस एप के शुरू होने से यात्रियों को डिजिटल टिकटिंग सुविधा उपलब्ध होगी । इस यूटीएस मोबाइल एप से यात्रियों को आर – वैलेट रिचार्ज पर 5 प्रतिशत बोनस भी मिलेगा। इस एप्लीकेशन को इस्तेमाल करने का तरीका इस तरह होगा सबसे पहले अपने स्मार्ट फोन पर यूटीएस एप्लीकेशन डाउनलोड करनी होगी। पहली  बार उपयोग के लिए डाउनलोड आवश्यक है ।  आर – वैलेट /पेटीएम/मोबीक्‍विक के माध्यम से टिकट खरीद सकते हैं । आर – वैलेट का रिचार्ज (कम से कम 100 रूपये) आप टिकट खिड़की पर या ऑनलाइन भी कर सकते हैं । टिकट बुकिंग करते समय आपके मोबाइल का इंटरनेट और जीपीएस दोनों ही ऑन होना चाहिये ।

खबरें और भी हैं...