comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

  "होम सेंटर पॉलिसी' के कारण दोगुनी होगी परीक्षा केंद्रों की संख्या

  "होम सेंटर पॉलिसी' के कारण दोगुनी होगी परीक्षा केंद्रों की संख्या

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  कोरोना संक्रमण को देखते हुए सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन बोर्ड (सीबीएसई) ने अपनी बची हुई बोर्ड परीक्षाओं के लिए नीति में बदलाव किया है। पहले ही सीबीएसई ने होम सेंटर यानी विद्यार्थियों के स्कूल में ही उनकी परीक्षा कराने का फैसला लिया था। लेकिन अब विद्यार्थियों को जरूरत के अनुसार परीक्षा केंद्र का शहर बदलने की छूट दी गई है। सीबीएसई ने ऐसा उन विद्यार्थियों को ध्यान में रखते हुए किया है जो कि अपने स्कूल से दूर अन्य जिले में रहते हैं। 

ऐसे विद्यार्थियों के लिए प्रत्येक जिले में एक नोडल परीक्षा केंद्र बनाया गया है। विद्यार्थी वहां जाकर परीक्षा दे सकते हैं। हां, जिन विद्यार्थियों के स्कूल प्रतिबंधित क्षेत्र में हैं, उन्हें भी परीक्षा केंद्र बदलने की अनुमति दी गई है। इस संबंध में सीबीएसई ने अपनी अधिकृत वेबसाइट पर नोटिफिकेशन जारी किया है। सीबीएसई की इस नीति के कारण नागपुर में होने वाली 12वीं कक्षा के लिए परीक्षा केंद्रों की संख्या दोगुनी हो जाएगी। पिछले वर्ष तक जहां शहर के करीब 10 परीक्षा केंद्रों पर 12वीं कक्षा की परीक्षा होती थी। अब शहर के 20 सीबीएसई स्कूल परीक्षा केंद्र बनने के लिए पात्र है। लेकिन अब तक इन केंद्रों का निर्धारण होना बाकी है। शहर के प्रतिबंधित क्षेत्र को ध्यान में रखते हुए परीक्षा केंद्रों का निर्धारण होगा। जहां करीब 2000 विद्यार्थी परीक्षा देंगे। 

पात्रता--
जो हॉस्टल में रह कर पढ़ते हैं। 
जिनका घर और स्कूल अलग-अलग जिलों में है
निजी (प्राइवेट) विद्यार्थी
एक ही जिले में घर और स्कूल हो तो नहीं मिलेगी सुविधा।

आवेदन कैसे करें
विद्यार्थी सीबीएसई को सीधे तौर पर आवेदन नहीं कर सकते। 
परीक्षा केंद्र बदलने का आवेदन स्कूल के जरिए ही भेजा जा सकता है। 
स्कूलों को अपने विद्यार्थियों से संपर्क करके परीक्षा केंद्र बदलने के बारे में चर्चा करनी है। 
स्कूल सीबीएसई की ई-परीक्षा पोर्टल के जरिए केंद्र बदलने का अावेदन कर सकते हैं। 
आवेदन की प्रामाणिकता और सटीकता स्कूलों की जिम्मेदारी होगी। 
निजी विद्यार्थी सीबीएसई की वेबसाइट या मोबाइल एप की मदद से आवेदन कर सकते हैं। 

पालकों को दी गई जिम्मेदारी
पूरे देश में सीबीएसई 1 से 15 जुलाई के बीच 29 विषयों की परीक्षा लेगा। इसमें से नागपुर में सिर्फ 12वीं कक्षा की ही परीक्षा होगी। क्योंकि लॉकडाउन के पूर्व 10वीं के सारे पेपर लिए जा चुके थे। नागपुर में करीब 3000 विद्यार्थी यह परीक्षा देंगे। उनकी बिजनेस स्टडीज, जियोग्राफ्री, हिंदी इलेक्टिव, हिंदी कोर, होम साइंस, सोशियोलॉजी, कंप्यूटर साइंंस-ओल्ड, कंप्यूटर साइंस-न्यू, इनफॉरमेशन प्रैक्टिस-ओल्ड, इनफॉर्मेशन प्रैक्टिस-न्यू, इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी और बायोक्टेक्नोलॉजी विषय का पेपर होगा। 

सीबीएसई ने साफ किया है कि परीक्षा के दौरान विद्यार्थियों को कोरोना संक्रमण न हो इसका ध्यान उनके पालकों को रखना होगा। वे सुनिश्चित करें कि उनका बच्चा बीमार नहीं है। परीक्षा केंद्र में विद्यार्थी को अपने साथ पारदर्शी बॉटल में सैनिटाइजर लाना अनिवार्य है। उन्हें पूरे समय अपना नाक और मुंह मास्क या कपड़े से ढंक कर रखना होगा। परीक्षा केंद्र पर सोशल डिस्टेंसिंग का सख्ती से पालन करना होगा।

कमेंट करें
ZphXC