comScore

बाराती बनकर पहुंचे अधिकारी-कर्मचारियों ने अवैध रेत घाट पर मारा छापा

बाराती बनकर पहुंचे अधिकारी-कर्मचारियों ने अवैध रेत घाट पर मारा छापा

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  खापा में रेत घाट से जारी अवैध रेत ढुलाई करने वालों पर नकेल कसने के लिए लिए राजस्व विभाग को अपना वाहन बारातियों के वाहन की तरह सजाकर कार्रवाई के लिए जाना पड़ा। हालांकि, रेत माफियाओं ने इस वाहन का पीछा किया, लेकिन वे चकमा खा गए। उन्हें लगा सचमुच कोई बारात का वाहन है, जिसमें बाराती बैठकर गांव की ओर निकले हैं। जब वाहन में सवार राजस्व विभाग के अधिकारी- कर्मचारियों ने रेती घाट पर पहुंचकर कार्रवाई शुरू की तो रेत माफियाओं में खलबली मच गई।

इस कार्रवाई के दौरान 5 ट्रैक्टर पकड़े गए। इन ट्रैक्टरों में लदी रेत की कीमत करीब 25 लाख रुपए बताई गई है। अवैध रेत से लदे ट्रक-ट्रैक्टर जरीपटका, कामठी रोड, कलमना, कोराडी रोड, उमरेड रोड के रास्ते नागपुर शहर में दाखिल होते हैं। नागपुर के कामठी, लकड़गंज, कोराडी, वर्धमान नगर, हुड़केश्वर क्षेत्र में कई रेत माफियाओं ने अपना जाल फैला रखा है। उत्तर नागपुर में कई रेत माफियाओं ने ईंट, गिट्टी और रेत के ढेर खाली जगहों पर लगा रखे हैं। अवैध रेत का गोरखधंधा स्थानीय पुलिस के सहयोग से शुरू होने की चर्चाएं होती रहती है। 

चार तस्कर भागने में सफल, फिल्मी स्टाइल में की कार्रवाई
सूत्रों के अनुसार शनिवारकी रात  को फिल्मी स्टाइल में की गई यह कार्रवाई उप-विभागिय अधिकारी अतुल म्हेत्रे की अगुवाई में किए जाने की खबर है। कार्रवाई के दौरान क्रमश: ट्रैक्टर क्र.-एम.एच.-40-एल.-9788, एम.एच.-40-एल.-7252, एम.एच.-35-ए.जी.-0708, एम.एच.-33-एफ.-4601 व एम.एच.-40-एल.-6490 काे जब्त किया गया। इन वाहनों को  खापा पुलिस थाने  में रखा गया है। सभी वाहन मालिकों को नोटिस देने के बाद उन पर दंडात्मक कारवाई किए जाने की जानकारी तहसील कार्यालय ने दी है। रेत चोरी में जुटे चोर रात के अंधेरे का फायदा उठाकर भागने में कामयाब हो गए। रेत चोरों के बारे में जानकारी नहीं मिल पाई है।

हलचल होने पर देते थे वॉट्स एप पर जानकारी
सूत्रों से पता चला है कि, तहसील कार्यालय के अधिकारी व कर्मचारी किसी भी वाहन से रेती घाट की ओर कार्रवाई के लिए जब भी निकलते थे, तब रेत माफियाओं के लिए स्लीपर सेल की तरह कार्य करने वाले लोग इसकी सूचना वॉट्स एप पर अपने ग्रुप के माध्यम से  सभी रेत चोरों देकर आगाह कर देते थे।

उप-विभागिय अधिकारी अतुल म्हेत्रे ने अपने साथ स्थानीय तहसीलदार दीपक कारंडे, केलवद के थानेदार सुरेश मट्टामी, आर.आई. जयसिंग राठोड़,सुजीत आड़े, अमोल खोरने को लेकर एक बारातनुमा वाहन सजाकर घाट की अोर  निकले। रेती माफियाओं ने उनके इस वाहन का काफी दूर तक पीछा भी किया, लेकिन विवाह समारोह का वाहन समझकर उन्होंने उस पर ध्यान नहीं दिया। कुछ देर में उसी वाहन से घाट पर पहुंच कर रेती घाट पर  कारवाई की गई।

कमेंट करें
XlA3f