दैनिक भास्कर हिंदी: मकान में आग लगने से जिंदा जली 65 साल की वृद्धा

March 16th, 2018

डिजिटल डेस्क खितौली/ कटनी । आज अपरांह यहां एक मकान में आग लग जाने से उसमें अके ले रह रही वृध्दा की जलकर मौत हो गई । आग लगने का कारण अज्ञात है ।  बरही थाना क्षेत्र की खितौली पुलिस चौकी अंतर्गत ग्राम बम्हौरी के एक मकान में आग लगने से वृद्धा द्वीजी बाई पति स्व.प्रेमलाल साहू (65) जिंदा जल गई।घटना को लेकर तरह तरह के अनुमान लगाए जा रहे हैं एक अनुमान यह भी है कि वृध्दा ने दोपहर का खाना पकाया हो और चूल्हे की लकडिय़ां बुझाकर लकडिय़ों के ढ़ेर के पास रख दी हो । इन लकडिय़ों की आग पूरी तरह से बुझी न होने के कारण इन्हीं से आग भड़की हो जिसने बिकराल रूप ले लिया ।
दोपहर में घटी घटना
घटना गुरुवार दोपहर की है। जानकारी के अनुसार द्वीजी बाई पुराने मकान में अकेले रहती थी। उसके पति की काफी पहले मौत हो चुकी है और तीनों पुत्र अलग रहते थे। गुरुवार दोपहर करीब दो बजे लोगों ने मकान में आग की लपटें उठती देखी और आसपास के लोगों ने द्वीजी बाई के छोटे पुत्र सुग्रीव को सूचना दी, साथ ही 100 डॉयल को भी सूचित किया गया। आग पूरे मकान को अपनी चपेट में ले चुकी थी। आग की विकरालता देख सुग्रीव भी हक्का-बक्का रह गया।

बुरी तरह जल चुकी थी वृध्दा
मकान के पिछले हिस्से से जाकर सुग्रीव ने देखा तो मां द्वीजी बाई पूरी तरह जल चुकी थी। तब तक 100 डॉयल पुलिस भी पहुंच चुकी थी। आसपास के लोगों की मदद से आग पर काबू पाने का प्रयास किया लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी। आग बुझने के बाद पुलिस ने वृद्धा का शव पोस्टमार्टम के लिए शासकीय अस्पताल भेजा। आग लगने का कारण स्पष्ट नहीं हो सका। बताया जाता है कि दहलान में लकडिय़ों का ढेर रखा था और पहले उसी में आग लगी। इस आग ने कुछ ही देर में पूरे मकान को अपनी चपेट में ले लिया। आसपास के लोगों को भी तक जानकारी हुई जब मकान से आग की ऊंची लपटें उठने लगी। वहीं यह भी चर्चा है कि वृद्धा की मानसिक स्थिति ठीक नहीं थी और संभवत: लकड़ी के ढेर में उसने स्वयं आग लगाई हो।