दैनिक भास्कर हिंदी: 10 लाख का एक क्विंटल गांजा बरामद, पुलिस ने भाग रही कार को पीछाकर पकड़ा

October 11th, 2018

डिजिटल डेस्क, मंडला। उड़ीसा से आ रही गांजा की खेप को मोतीनाला पुलिस ने पकड़ा है। आरोपियों के पास से करीब 102 किलोग्राम गांजे के साथ कार जब्त की गई। गांजा तस्कर पुलिस चेकिंग देखकर रास्ते से यू टर्न लेकर भागने लगे, जिन्हें पुलिस ने पीछा करते हुए धर दबोचा। आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने धारा 8/20 एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है। मामले की जांच की जा रही है।

उड़ीसा से आती है बड़ी खेप
बताया गया है कि मादक पदार्थ गांजा की तस्करी के लिए रायपुर जबलपुर हाइवे का उपयोग किया जा रहा है। यह तस्करी लंबे समय से चली आ रही है। आंध्रा, उड़ीसा और सीजी से गांजा तस्करी के बड़े नेटवर्क में कारोबार चल रहा है। यहां गांजा बड़े बड़े महानगरो तक पहुंच रहा है। इस तस्करी के कारोबार में सिर्फ छोटी मछलियां पकड़ी जा रहीं  है। मंडला जिले के मोतीनाला पुलिस ने फिर दो तस्करों को पकड़ा है। बताया गया है कि पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली थी कि एक गे्र क्यूड कार से गांजा की खेप मंडला जिले की सीमा में पहुंच रही है। खबर एक दम सटीक रही है। यहां मोतीनाला पुलिस ने बेरियर लगाकर वाहनों की जांच की।

थोडी देर में हाइवे से कार क्रमांक सीजी04एलबी6400 चिल्पी की ओर से आती दिखी। तस्करों ने पहले ही पुलिस को वाहनों की जांच करते देख लिया। कुछ देर वाहन खड़े रहने के बाद कार ने यूटर्न लिया और भागने लगे। पुलिस को समझते देर नहीं लगी कि कार में मादक पदार्थ है। हरकतमें आई पुलिस ने आरोपीयों की कार का पीछा करते हुए धर दबोचा। कार की तलाशी लेने पर डिक्की में खाकी रंग के टेप से लिपटे 26 पैकिट मिलें  जिसमें गांजा भरा हुआ था। करीब एक सौ दो किलोग्राम कीमत दस लाख का गांजा बरामद किया गया। तस्करी करने वाले आरोपी सुनील पितापूर्ण चंद्र दास 31 वर्ष निवासीएमव्ही 13 गलीनंबर 2तहसील काली मेला जिला मलकानगिरी उड़ीसा,प्रशांत पिता तरनी घोष 30 वर्ष निवासी एमव्ही 91 पंचायत चलन गुडा थाना मलकनगिरी उड़ीसा के है।

छह प्रकरणों में 235 किलोग्रामगांजा
मंडला जिला पुलिस के द्वारा एसपी के निर्देश पर मादक पदार्थो की तस्करी और विक्रय को लेकर कार्रवाई की जा रही है। मोतीनाला थाना पुलिस ने गत छह प्रकरणों में 235 किलोग्राम गांजा पकड़ा है। इसमें 14 तस्करो को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। यह कार्रवाई लगातार जारी रहेंगी। बताया गया है कि मप्र की सीमा में तस्कर मंडला और डिंडौरी जिले से प्रवेश कर जाते है। यह तस्करी का रूट बन गया है।