comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

लाल बसों में 44 व शिवशाही में 42 यात्री ही कर सकेंगे सफर

लाल बसों में 44 व शिवशाही में 42 यात्री ही कर सकेंगे सफर

डिजिटल डेस्क, नागपुर। निरंतर बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए अब राज्य मार्ग परिवहन महामंडल की ओर से बसों का संचालन व परिवहन के दौरान सावधानियां बरती जा रही है। इसके तहत "जितनी आसन क्षमता, उतने यात्री' का फरमान जारी किया गया है। यानी अब बसों में खड़े रहकर सफर करने वाले यात्रियों के लिए जगह नहीं रहेगी। इससे एक ओर नियमों का पालन होगा, वहीं दूसरी ओर कोरोना संक्रमण बढ़ने के खतरे से बचा जा सकता है।नागपुर विभाग अंतर्गत कोरोना संक्रमण के कारण एसटी महामंडल की बसों को बारी-बारी ब्रेक लगता रहा है।

वर्तमान स्थिति में यात्रियों की संख्या भी बेहद कम है। ऐसे में प्रशासन द्वारा डीजल बचत के लिए कम बसाें का परिचालन ही जारी है। काटोल, रामटेक, उमरेड, चंद्रपुर, बल्लारशाह, अमरावती आदि जगह जाने वाली बसों में बहुत ज्यादा भीड़ हो रही है। आरटीओ द्वारा आसन क्षमता के अनुसार बस में सीट के अलावा 10 अन्य यात्रियों को खड़े रहकर सफर करने की छूट है, लेकिन इन दिनों बसों में खड़े रहकर 15 से 20 यात्री तक सफर कर रहे थे। इससे कोरोना संक्रमण बढने की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता है। राज्य सरकार की ओर से हाल ही में एक फरमान जारी करते हुए बसों में आसन क्षमता से ज्यादा यात्रियों को लेकर जाने पर रोक लगा दी गई है। लाल बसों में 44 व शिवशाही बसों में 42 यात्री सीट के अनुसार ही सफर कर सकेंगे। खड़े रहकर सफर करने वाले यात्रियों को बस में जगह नहीं मिलेगी।

10 अप्रैल तक चालक परिचालक काे करना होगा वैक्सीनेशन
फरमान में यात्रियों के सीधे संपर्क में आने वाले चालक व परिचालक को 10 अप्रैल तक वैक्सीनेशन करने के लिए कहा गया है। यदि ऐसा नहीं होने की स्थिति में कर्मचारियों को 15 दिन पहले तक की आरटीपीसीआर रिपोर्ट रखना जरूरी होगा। हालांकि अधिकारियों की माने तो विभिन्न माध्यमों से 40 प्रतिशत चालक व कंडेक्टरों ने वैक्सीन ली है। बाकी लोगों के लिए प्रशासन की ओर से व्यवस्था की जा रही है।
 

कमेंट करें
8MBqy