दैनिक भास्कर हिंदी: विदर्भ में ऑरेंज अलर्ट, नागपुर का पारा 45 के पार, चंद्रपुर का टूट सकता है रिकार्ड

April 27th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  तेजी से बढ़ते तापमान व गर्म हवाओं के थपेड़े का असर बढ़ता जा रहा है। धूप ऐसी चटक रही है कि सुबह से ही गर्म हवाओं के थपेड़े शुरू हो रहे हैं। भीषण गर्मी के चलते लोग कूलर ,एसी का सहारा ले रहे हैं। विदर्भ में फिलहाल हफ्तेभर इससे राहत मिलने के आसार नहीं है। इसके मद्देनजर मौसम विभाग की ओर से अंचल के अधिकांश हिस्सों के लिए ऑरेंज अलर्ट (सतर्कता बरतने) जारी किया गया है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से भी लोगों से सावधानी बरतने की अपील की गई है। वहीं, चंद्रपुर मनपा की ओर से जारी विज्ञप्ति के मुताबिक, शहर में इस वर्ष पिछले साल की गर्मी का रिकॉर्ड टूटने की आशंका है।

नागपुर का पारा शुक्रवार को  45 डिग्री सेल्सियस के पार हो गया। 30 अप्रैल तक तेज लू के आसार हैं। सबसे अधिक प्रभाव पूर्व विदर्भ में रहेगा। मौसम विभाग ने इन क्षेत्रों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। ऑरेंज अलर्ट का मतलब लू से सतर्क रहना है। इसके बाद की स्थिति रेड अलर्ट की होगी।  रेड अलर्ट की स्थिति में जान-माल को नुकसान की संभावना बढ़ जाती है।

गौरतलब है कि चंद्रपुर में 2018 की गर्मी को 1901 से अब तक पड़ी सबसे भयंकर गर्मी घोषित किया गया था। वर्ष 2018 में चंद्रपुर देश व दुनिया के सर्वाधिक गर्म स्थानों की सूची में भी शामिल था। यहां शुक्रवार को अधिकतम तापमान 45.6 डिग्री दर्ज किया गया। अन्य जिलों की भी बात करें तो अधिकांश में अधिकतम तापमान 44 डिग्री सेल्सियस के पार हो गया है। शुक्रवार को अकोला में अंचल का सर्वाधिक 46.4 डिग्री सेल्सियस अधिकतम तापमान दर्ज किया गया। वहीं ब्रह्मपुरी में यह 45.8, वर्धा में 45.7, अमरावती में 45.4, नागपुर में 45.2, यवतमाल में 44.5 वाशिम में 44.2 गोंदिया में 43.8 व गड़चिरोली में 43.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। 

मध्य भारत में इस बार 0.5 डिग्री ज्यादा रहेगा तापमान 
मौसम विभाग के अनुसार, चंद्रपुर के साथ ही इस वर्ष गर्मी में मध्य भारत के अधिकांश इलाकों में तापमान औसत से 0.5 डिग्री सेल्सियस से अधिक होने का अनुमान है। लू के असर को देखते हुए चंद्रपुर मनपा के स्वास्थ्य विभाग की ओर से लोगों को अतिरिक्त सतर्कता बरतने की अपील की गई है। 
हालांकि शहर में लू से मृत्यु का कोई मामला सामने नहीं आया है।