comScore

रिश्वत लेते पटवारी को लोकायुक्त टीम ने रंगेहाथ पकड़ा

रिश्वत लेते पटवारी को लोकायुक्त टीम ने रंगेहाथ पकड़ा

हाईलाइट

  • जमीन सीमांकन के बदले रिश्वत मांग रहे पटवारी को जबलपुर लोकायुक्त टीम ने किया गिरफ्तार
  • लोकायुक्त टीम ने पटवारी की पैंट की जेब से 4 हजार रुपए बरामद किए

डिजिटल डेस्क बहोरीबंद/कटनी। जमीन सीमांकन के बदले रिश्वत मांग रहे पटवारी को जबलपुर लोकायुक्त की टीम ने रंगेहाथों गिरफ्तार किया है। लोकायुक्त टीम ने पटवारी की पैंट की जेब से 4 हजार रुपए बरामद किए हैं, जिसके बाद पटवारी की पैंट उतरवाकर पैजामा पहनवाया गया। कार्रवाई के दौरान मौके पर हड़कंप की स्थिति बन गई थी। 

पहले ले चुका था पांच हजार रुपए-

सीमांकन के लिए पांच हजार रुपये लेने के बाद राजस्व निरीक्षक के नाम पर आठ हजार रुपए की रिश्वत मांगने और फिर पांच हजार की डिमांड करना पटवारी को महंगा पड़ गया। रुपए के लिए पटवारी की बढ़ती भूख से परेशान भूमि स्वामी ने लोकायुक्त एसपी जबलपुर से शिकायत की। जिस पर लोकायुक्त की टीम ने गुरुवार को बहोरीबंद पहुंचकर पटवारी मूरत सिंह पटेल को चार हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगेहाथ दबोचा। पटवारी ने जिस पैंट में रिश्वत की रकम रखी थी लोकायुक्त टीम ने उसे उतरवाकर पटवारी को कुर्ता पायजामा पहनवाया।

आरआई के नाम पर मांगे थे आठ हजार-

पीएसएम कालेज जबलपुर के समीप निवासी मो. जलील ने बहोरीबंद तहसील के ग्राम किरहाई पिपरिया में 55 डिस्मिल जमीन खरीदी थी। रजिस्ट्री एवं नामांतरण के बाद डेढ़ माह पहले सीमांकन के लिए आवेदन दिया था।  मो. जलील ने लोकायुक्त में की गई शिकायत में बताया कि सीमांकन करने के लिए  हल्का नंबर 49/50 के  पटवारी मूरत सिंह ने पहले पांच हजार रुपये ले लिए। जब सीमांकन करने के लिए कहा तो पटवारी ने जवाब दिया कि आरआई को भी आठ हजार रुपये देना पड़ेंगे। आरआई से बात की तो उन्होने ने भी जवाब दिया कि पटवारी से समझ लो। पटवारी से बात करने पर पांच हजार रुपये और देने पर सीमांकन करने तैयार हुए। एक हजार रुपये एक दिन पहले 3 अप्रेल को दिए तथा शेष राशि अगले दिन देने का वादा किया। पटवारी से परेशान मो.जलील ने इसकी शिकायत बुधवार को लोकायुक्त एसपी जबलपुर से की। रिश्वत मांगने की पुष्टि होने पर लोकायुक्त एसपी ने डीएसपी दिलीप झरवड़े के नेतृत्व में टीम गठित कर बहोरीबंद भेजा।

रकम जेब में रखते ही कमरे में धमकी टीम-

पुराने तहसील कार्यालय में खाली पड़े कक्षों को पटवारियों ने अपने बैठने का स्थान बनाया है। गुरुवार दोपहर दो बजे जैसे ही मो.जलील ने पटवारी मूरत सिंह पटेल को रिश्वत के चार हजार रुपये दिए लोकायुक्त दल ने कमरे में पहुंचकर छापा मारा और पटवारी को दबोच लिया। पटवारी ने रिश्वत की रकम पैंट की जेब में रख ली थी। टीम ने पटवारी से रिश्वत की रकम और पैंट जब्त कर बाहर से कुर्ता-पैजामा मंगाया और पटवारी को पहनाया। इस टीम में  डीएसपी दिलीप झरवड़े सहित मंजू किरण तिरकी, आरक्षक सागर सोनकर एवं आरक्षक अतुल श्रीवास्तव शामिल थे।

कमेंट करें
pV4JC