दैनिक भास्कर हिंदी: राफेल को लेकर पवार के बयान पर NCP का यू-टर्न, कांग्रेस ने कहा- घोटाले की हो जांच

September 27th, 2018

डिजिटल डेस्क, मुंबई। राफेल विमान खरीद मामले में NCP अध्यक्ष शरद पवार के साथ से सत्ताधारी भाजपा उत्साहित है। हालांकि पवार के बयान को भाजपा द्वारा हाथों-हाथ लेने के बाद पार्टी ने यू-टर्न ले लिया। NCP का कहना है कि पवार के बयान को गलत तरीके से पेश किया गया है। NCP प्रवक्ता नवाब मलिक ने गुरुवार को पार्टी के साप्ताहिक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि NCP अध्यक्ष पवार के बयान का गलत अर्थ निकाला जा रहा है। मलिक ने कहा कि कुछ न्यूज चैनल और वेबसाईट जानबूझ कर ऐसा कर रहे हैं।

एक मराठी न्यूज चैनल से बातचीत में पवार ने राफेल विमान खरीद मामले को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इरादों पर शक नहीं किया जा सकता है। मलिक ने कहा कि न्यूज चैनल के संवाददाता ने पवार से इंटरव्यू के दौरान राफेल विमान खरीद को लेकर सवाल किया तो उन्होंने जवाब में कहा कि राफेल को लेकर सरकार की तरफ से कोई स्पष्टीकरण नहीं दिया जा रहा है। इससे राफेल को लेकर हुए फैसले की विश्वसनियता प्रभावित हो रही है। राफेल को लेकर लोगों के मन में शंका पैदा हो रही है। पवार ने यह भी कहा कि राफेल प्रकरण को लेकर केंद्र सरकार को संसद की संयुक्त समिति गठित करनी चाहिए। सरकार को इस बात का खुलासा करना चाहिए कि राफेल की कीमत क्यों बढ़ी और एचएएल कंपनी का ठेका क्यों रद्द किया गया?  

पवार ने क्या कहा था

देश के पूर्व रक्षा मंत्री शरद पवार ने मराठी न्यूज चैनल को दिए इंटरव्यू में राफेल सौदे की जानकारी को लेकर कांग्रेस की मांग पर सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि फाइटर प्लेन की कीमतों का खुलासा करने से सरकार को कोई खतरा नहीं होता। उन्होंने कहा कि निजी तौर पर मुझे लगता है कि लोगों को पीएम मोदी के इरादों पर कोई शंका नहीं है।' हालांकि, उन्होंने कहा कि रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने जिस तरह से मामले को लेकर सरकार के पक्ष को रखा, उससे लोगों के मन में दुविधा की स्थिति पैदा हुई है। जबकि, अब वित्त मंत्री अरुण जेटली रक्षा मंत्री की जगह इस मुद्दे पर सरकार का पक्ष रख रहे हैं।

कांग्रेस की मांग- राफेल विमान खरीद मामले की हो उच्चस्तरिय जांच

 उधर इस मुद्दे को लेकर कांग्रेस पार्टी की तरफ से गुरुवार को महानगर में मोर्चा निकाला गया। इस दौरान कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल सी विद्या सागर राव से मुलाकात कर राफेल विमान खरीद मामले की उच्चस्तरिय जांच कराए जाने की मांग की। राज्यपाल से मुलाकात के दौरान कांग्रेस नेताओं ने कहा कि फ्रांस के पूर्व राष्ट्राध्यक्ष ओलांद के बयान की वजह से राफेल विमान खरीद को लेकर आशंका पैदा हो गई है। इस लिए इस मामले की उच्च स्तरिय जांच कराई जानी चाहिए। राफेल विमान खरीद मामले में मोदी सरकार को घेरने के लिए कांग्रेस पार्टी की तरफ से महानगर में महालक्ष्मी रेसकोर्स से अगस्त क्रांति मैदान तक मोर्चा निकाला गया। कांग्रेस के पार्टी प्रभारी मल्लिकार्जुन खडगे के नेतृत्व में निकाले गए मोर्चे में पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने हिस्सा लिया। बाद में पार्टी नेताओं के प्रतिनिधिमंडल ने राजभवन जाकर राज्यपाल से मुलाकात की।

कांग्रेस नेताओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमन से इस्तीफे की मांग की। इसके पहले मोर्चे को संबोधित करते हुए खडगे ने कहा कि फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति ने भाजपा का असली चेहरा सबके सामने ला दिया है। उन्होंने सवाल किया कि राफेल विमान की कीमत तीन गुना बढ़ा कर हजारों करोड़ रुपए अपनी जेब में डाल लिया है क्या? दोपहर 1 बजे से शुरु हुए मोर्चे में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अशोक चव्हाण, विधानसभा में विपक्ष के नेता राधाकृष्ण विखेपाटील, मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष संजय निरुपम, पूर्व मंत्री सुरेश शेट्‌टी, वर्षा गायकवाड, असलम शेख, अमीन पटेल आदि नेताओं ने हिस्सा लिया।   
 

खबरें और भी हैं...