comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को नागपुर आने की जरूरत न पड़े, उन्हें वहीं मिले इलाज

ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को नागपुर आने की जरूरत न पड़े, उन्हें वहीं मिले इलाज

डिजिटल डेस्क, नागपुर। कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए शहर की तरह ग्रामीण क्षेत्रों के अस्पतालों में भी कोरोना से संबंधित आवश्यक सभी वैद्यकीय सुविधा निर्माण करें। ग्रामीण क्षेत्र का एक भी मरीज न तो उपचार से वंचित न रहे और न ही नागपुर पर निर्भर रहे। उन्हें वैद्यकीय सुविधा ग्रामीण क्षेत्र में ही मिले। इसके लिए तत्काल उपाययोजना करने के निर्देश पालकमंत्री डॉ. नितिन राऊत ने दिए हैं। 

कोराडी, महादुला के मरीजों को लाभ : डॉ. राऊत ने कहा कि कोविड केयर सेंटर के कारण कोराडी क्षेत्र के नागरिकों को राहत मिली है। सेंटर के कारण सौम्य लक्षण वाले मरीजों का तत्काल उपचार शुरू किया जा सकता है। कोराडी, महादुला क्षेत्र के मरीजों को इस सेंटर के कारण परिसर में ही उपचार मिलेगा। स्थानीय बेड की संख्या 20 से 50 तक बढ़ाएं और मरीजों के लिए पोस्ट कोविड सुविधा निर्माण करें। बढ़ते मरीजों की संख्या को ध्यान में रखकर कमरे बढ़ाने की जरूरत है। इसके लिए स्थानीय निर्माणकार्य का तुरंत प्रस्ताव मंजूरी के लिए भेजें। कोराडी स्थित वीरांगना रानी अवंतीबाई तालुका क्रीड़ा संकुल में टीकाकरण की सुविधा उपलब्ध है। डॉ. राऊत ने टीकाकरण केंद्र और कामठी स्थित उपजिला अस्पताल का भी निरीक्षण किया। 

केयर सेंटर का निर्माण : महानिर्मिति कोराडी स्थित कोविड केयर सेंटर डॉ. राऊत ने निरीक्षण किया। महानिर्मिति और दत्ता मेघे मेडिकल कॉलेज व शालिनीताई मेघे हॉस्पिटल व रिसर्च सेंटर के संयुक्त तत्वावधान में कोराडी स्थिति ग्रामीण स्वास्थ्य प्रशिक्षण केंद्र में कोविड केयर सेंटर का निर्माण किया गया है। विभागीय आयुक्त डॉ. संजीव कुमार, जिप के प्रभारी सीईओ डॉ. कमल किशोर फुटाणे, शालिनीताई मेघे अस्पताल के अधिष्ठाता डॉ. दिलीप गाडे, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. दीपक सेलोकर, जिला शल्य िचकित्सक डॉ. देवेंद्र पातुरकर, वैद्यकीय अधीक्षक डॉ. मुकेश गजभिये, डॉ. संजय देशपांडे, मुख्य अभियंता राजेश पाटील, राजकुमार तासकर, अनिल आष्टीकर, राजेंद्र राऊत, तहसीलदार अरविंद हिंगे, गटविकास अधिकारी अंशूजा गराटे आदि उपस्थित थे। 

ऑक्सीजन प्लांट का शुभारंभ : डॉ. राऊत ने महानिर्मिति के खापरखेड़ा औष्णिक विद्युत केंद्र के 42 घनमीटर क्षमता के ऑक्सीजन प्लांट कामठी स्थित उपजिला अस्पताल में स्थानांतरित कर उसे निर्माण करने के संबंध में तत्काल कार्रवाई करने के निर्देश मुख्य अभियंता राजू घुगे को दिए। यहां कोरोना मरीजों के लिए अतिरिक्त 100 बेड की संख्या बढ़ाने को भी कहा। कामठी रोड स्थित आशा अस्पताल परिसर में ऑक्सीजन प्लांट का भी डॉ. राऊत ने उद्घाटन किया। इस ऑक्सीजन प्लांट के कारण 100 जम्बो सिलेंडर्स की आपूर्ति होगी। ऑक्सीजन उपलब्धता के कारण ग्रामीण क्षेत्र को राहत मिलेगी। स्थानीय कोविड केयर सेंटर में 160 बेड हैं। प्रत्येक बेड में ऑक्सीजन की सुविधा उपलब्ध है। 
  


 

कमेंट करें
Cnb0y