गरीब छात्रों को नि:शुल्क वाईफाई : आंबेडकर नगर के लोगों ने खुद लगवाए 6 सीसीटीवी कैमरे

February 28th, 2022

डिजिटल डेस्क, नागपुर ( वाड़ी )।  नागरिकों की सुरक्षा करने की जिम्मेदारी पुलिस प्रशासन और स्थानीय निकाय की होती है, लेकिन जब दोनों ही इस ओर ध्यान न दें, तो स्थानीय निवासियों को खुद ही हल ढूंढ़ना पड़ता है। असामाजिक तत्वों से परेशान आंबेडकर नगर (वाड़ी) के निवासियों ने भी कुछ ऐसा ही किया है। खुद ही अपनी सुरक्षा करने का बीड़ा उठाया और चंदा इकट्ठा कर परिसर में 6 सीसीटीवी कैमरे लगवाए हैं। खुद ही मॉनिटरिंग भी कर रहे हैं और गरीब छात्रों को एक साल तक नि:शुल्क वाई-फाई उपलब्ध कराने का भी संकल्प लिया है।

नाममात्र की पुलिस चौकी : वाड़ी पुलिस स्टेशन अंतर्गत आंबेडकर नगर के नागरिक सालों से असामाजिक तत्वों से परेशान थे। जब इसकी शिकायत पुलिस से की गई, तो डीसीपी लोहित मतानी ने आंबेडकर नगर में पुलिस चौकी स्थापित कर दी, लेकिन सीसीटीवी कैमरे नहीं लगाए गए। इस ओर नप के मुख्याधिकारी ने भी ध्यान नहीं दिया। पुलिस चौकी लगने के बाद भी यहां पर अवैध शराब की बिक्री शुरू रही। चौकी में एक भी पुलिसकर्मी नहीं रहता है। एक माह पहले चौकी बनाई गई, जिसमें केवल 5 मिनट के लिए कोई पुलिसकर्मी आता है और फिर चला जाता है। नागरिकों का कहना है कि चौकी पर 24 घंटे पुलिसकर्मी तैनात किए जाएं।

खुद ही करेंगे देखभाल : समस्याओं से परेशान नागरिकों ने एक-एक रुपए चंदा जमा कर सामाजिक कार्यकर्ता सतीश जंगले और राहुल मेश्राम के सहयोग से करीब 35 हजार रुपए में 6 सीसीटीवी कैमरे लगवाए हैं। चंद्रमणि चौक में 4 और समता सैनिक दल ग्राउंड पर 2 कैमरे लगाए गए हैं। अब इन कैमरों की देखभाल भी नगर के लोग ही करेंगे। कार्यकर्ताओं के मोबाइल पर भी कैमरे कनेक्ट रहेंगे व पुलिस को भी इसकी जानकारी देंगे। जिन गरीब घरों में पढ़ाई करने वाले छात्र हैं, उनके घर में एक साल तक वाई-फाई फ्री देंगे।

पुलिस कार्रवाई करेगी : नागरिकों का कहना है कि सीसीटीवी कैमरे लगाने के बाद पुलिस प्रशासन का भी बोझ कम होगा। अपराधियों पर पुलिस की पकड़ होगी। जनता की समस्याओं को गंभीरता से लेकर असामाजिक तत्वों पर पुलिस कार्रवाई कर सकेगी। गत दिवस कैमरे का उद्घाटन पीआई ललिता तोड़ासे के हाथों करने की जानकारी राहुल मेश्राम ने दी है।