comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

दिव्यांग और मानसिक रूप से कमजोर बच्चे भी अब करेंगे सुरक्षित मनोरंजन

June 17th, 2018 17:26 IST
दिव्यांग और मानसिक रूप से कमजोर बच्चे भी अब करेंगे सुरक्षित मनोरंजन

हाईलाइट

  • केन्द्र और राज्य सरकार द्वारा दिव्यांगों और लर्निंग डिसेबिलिटी से जुड़े बच्चों के लिए अनेक योजनाएं संचालित की जा रही हैं।
  • त्रिमूर्तिनगर परिसर में अनोखे थीम पार्क का निर्माण किया जा रहा है।
  • राज्य में यह पहला थीम पार्क है, जो दिव्यांग और मतिमंद बच्चों को खिलौने से खेलने के भरपूर अवसर देगा।

डिजिटल डेस्क, नागपुर। नीरज दुबे। उपराजधानी में सामान्य बच्चों के लिए कई उद्यान एवं एम्युजमेंट पार्क है। इन उद्यानों में अलग-अलग सामग्री और खिलौनों को लगाया गया है, ताकि यहां आने वाले बच्चों को खेल के साथ शारीरिक और मानसिक विकास के अवसर मिल सके। शहर में करीब 95 उद्यानों का मनपा और 120 उद्यानों का नागपुर सुधार प्रन्यास संचालन कर रहा है। इसके अलावा स्कूलों और निजी संस्थाओं के भी उद्यान है, लेकिन दिव्यांग और मतिमंद बच्चों के लिए विशेष सुविधा से निर्मित उद्यान नहीं बनाए गए हैं। ऐसे बच्चों का सामान्य उद्यानों में खेल पाना बेहद मुश्किल होता है।

अकसर उद्यानों के खिलौने और झूलों पर चढ़ने की कोशिश में वे गिर जाते हैं और घायल भी हो जाते हैं। इसके कारण दिव्यांग और मतिमंद बच्चों के पालक भी अपने बच्चों को पार्क और उद्यानों में ले जाने से परहेज करते हैं। इस समस्या को देखते हुए दो साल पहले नागपुर सुधार प्रन्यास के अधीक्षक अभियंता सुनील गुज्जेलवार ने दिव्यांग थीम पार्क की योजना बनाई।

इतना ही नहीं त्रिमूर्तिनगर इलाके में 55,000 वर्ग फीट जगह में 1.86 करोड़ की लागत से राज्य के पहले थीम पार्क को साकार भी कर दिया गया है। साल भर की मशक्कत के बाद अनूठा थीम पार्क अब पूरी तरह से तैयार हो चुका है। जल्द इसे शुरू कर दिया जाएगा। पार्क की विशेषता यह है कि यहां लगे प्रत्येक खिलौने और झूलों के इस्तेमाल की लिखित सूचना भी होगी। पार्क की इपीडियम फ्लोरिंग के चलते इस्तेमाल के दौरान बच्चों के गिरने से उन्हें चोट नहीं लगेगी।

राज्य का पहला दिव्यांग थीम पार्क जल्द ही होगा शुरू
केन्द्र और राज्य सरकार द्वारा दिव्यांगों और लर्निंग डिसेबिलिटी से जुड़े बच्चों के लिए अनेक योजनाएं संचालित की जा रही हैं। इन योजनाओं का लक्ष्य बच्चों को समाज की मुख्यधारा से जोड़ना है, लेकिन इन बच्चों को खेल के मैदान और खिलौने से जोड़ने को लेकर अब तक कोई योजना नहीं थी। इस समस्या को देखते हुए शहर के त्रिमूर्तिनगर परिसर में अनोखे थीम पार्क का निर्माण किया जा रहा है।

नागपुर सुधार प्रन्यास के अधीक्षक अभियंता सुनील गुज्जेलवार ने इस संकल्पना को पहली बार क्रियान्वित किया है। राज्य में यह पहला थीम पार्क है, जो दिव्यांग और मतिमंद बच्चों को खिलौने से खेलने के भरपूर अवसर देगा। इन खिलौनों की खासियत यह है कि बच्चों के गिरने पर चोट भी नहीं लगेगी। जल्द ही मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस के हाथों इस थीम पार्क का लोकार्पण किया जाएगा।

55 हजार वर्ग फीट पर बना थीम पार्क
पूरे राज्य में शारीरिक और मानसिक रूप से अक्षम बच्चों के लिए यह पहला थीम पार्क है। एनआईटी के फंड से निर्मित थीम पार्क की सराहना राज्य के मुख्यमंत्री फडणवीस भी कर चुके हैं। बच्चों की सुविधा और दिक्कतों को देखते हुए उपकरणों की डिजाइन एवं सुविधा स्थल बनाई गई है। करीब 40 लाख की लागत से इपीडियम फ्लोरिंग और विशेष उपकरण समेत कुल 90 लाख रुपए खर्च कि गए हैं। पार्क के उपकरणों में मल्टी प्ले सिस्टम, मेरिगो राऊंड, व्हीलचेयर स्विंग, क्रॉल टनल, बॉल पुल, आर्म शोल्डर ट्विस्टर के चारों ओर 600 मीटर की सुरक्षा रेलिंग भी बनाई गई है। इसके साथ ही विशेष रैम्प सुविधा के साथ महिला और पुरुष शौचालय भी बनाए गए हैं। 

कमेंट करें
jRsY3