• Dainik Bhaskar Hindi
  • State
  • Platinum Jubilee will celebrate the formation of Azad Hind government, programs will be held throughout the year

दैनिक भास्कर हिंदी: आजाद हिंद सरकार के गठन की मनाएंगे ‘प्लेटिनम जुबली’, साल भर होंगे प्रोग्राम

November 5th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर । राष्ट्रसंत तुकड़ोजी महाराज नागपुर विश्वविद्यालय ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस द्वारा स्थापित आजाद हिंद सरकार के 76 वर्ष पूरे हो जाने के अवसर पर प्लेटिनम जुबली वर्ष मनाने का निर्णय लिया है। अगले एक वर्ष तक राष्ट्रसंत तुकड़ोजी महाराज अपने विविध विभागों और संलग्न महाविद्यालय में विद्यार्थियों के लिए विविध व्याख्यान, कार्यक्रम, चित्र व फिल्म प्रदर्शनी का आयोजन करेगा। हाल ही में हुई यूनिवर्सिटी  की बैठक में सीनेट सदस्य दिनेश शेराम ने प्रस्ताव रखा था।

जिस पर सहमति के बाद विवि ने शेराम की ही अध्यक्षता में एक समिति गठित कर उसे क्रियान्वयन का जिम्मा सौंपा है। समिति का सचिव  विद्यार्थी कल्याण संचालक डॉ. अभय मुदगल को बनाया गया है। इसके अलावा सीनेट सदस्य विष्णु चांगदे, प्रवीण उदापुरे, वसंत चुटे, चेतन मसराम, प्रशांत डेकाटे, डॉ. उर्मिला डबीर, डॉ. निरंजन देशकर, डॉ. आर.जी.भोयर और डॉ. नितीन कोंगरे को भी बतौर सदस्य शामिल किया गया है। 

आजादी के पूर्व गठित की थी भारत की सरकार
दरअसल आजादी के करीब 4 वर्ष पूर्व स्वतंत्रता संग्राम के अग्रणी नेताजी सुभाष चंद्र बोस ने 21 अक्टूबर 1943 को सिंगापुर में ‘आजाद हिंद सरकार’ नाम से भारत की पहली सरकार का गठन किया था। नेताजी ने स्वयं इसके प्रधान के तौर पर कमान संभाल कर पूरा मंत्रीमंडल स्थापित किया था। इस सरकार को उस वक्त के 9 देशों (जर्मनी, जापान, फिलीपीन्स, कोरिया, चीन, इटली, मान्चुको और आयरलैंड) ने मान्यता दी थी। आजाद हिंद फौज के सदस्यों ने पहली बार देश में 19 मार्च 1944 के दिन झंडा फहराया दिया था।

कर्नल शौकत मलिक ने कुछ मणिपुरी और आजाद हिंद के साथियों की मदद से माइरंग में राष्ट्रीय ध्वज फहराया था। हिंद सरकार की आजाद हिंद फौज में करीब 80 हजार सैनिक शामिल थे। सरकार ने कई देशों में अपने दूतावास भी खोले थे। इसके अलावा आजाद हिंद फौज ने बर्मा की सीमा पर अंग्रेजों के खिलाफ लड़ाई लड़ी थी। आजाद हिंद बैंक की भी स्थापना हुई  थी और नेताजी की तस्वीर वाला एक लाख का नोट भी जारी किया गया था। इसके अलावा आजाद हिंद सरकार ने अपना न्यायालय और नागरिक संहिता भी स्थापित की थी। जापान नौसेना द्वारा जीते गए अंदमान और निकोबार द्वीप समूह को दिसंबर 1943 में आजाद हिंद सरकार को भारत के पहले स्वतंत्र भू-भाग के रूप में सौंपा गया था। 

 विद्यार्थियों को मिले जानकारी
 आजाद हिंद सरकार का प्लेटिनम जुबली वर्ष मनाने से युवा पीढ़ी को उनके कार्य-कीर्ति के बारे में मालूम होगा। उन्हें देशसेवा की प्रेरणा मिलेगी। शेराम ने भास्कर से बातचीत में कहा कि इस उपक्रम के तहत विवि के सभी संलगन महाविद्यालय मंे पढ़ रहे 4 लाख विद्यार्थियों को शामिल किया जाएगा। 
- दिनेश शेराम, सीनेट सदस्य, नागपुर यूनिवर्सिटी
 

खबरें और भी हैं...