जनजातीय गौरव दिवस: बिरसा मुंडा जयंती पर पीएम मोदी आदिवासियों के साथ साझा करेंगे मंच

November 15th, 2021

हाईलाइट

  • हबीबगंज स्टेशन अब हुआ कमलापति

डिजिटल डेस्क, भोपाल। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बिरसा मुंडा जयंती पर मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में पधार रहे है। पीएम मोदी इस ऐतिहासिक शुभ अवसर पर आदिवासियों के लिए कई घोषणाएं कर सकते है। मिली जानकारी के मुताबिक इस दिन को प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में बीजेपी जनजातीय गौरव दिवस के रूप में मनाने जा रही है। खबरों के मुताबिक इस आदिवासी सम्मेलन में  पीएम मोदी मंच पर राज्यपाल और मुख्यमंत्री के साथ प्रदेश के ज्यादातर आदिवासी नेता मौजूद रहेंगे। प्रधानमंत्री मंच पर आदिवासी नेताओं की उपस्थिति से गौरव और सम्मान भाव का संकेत देना चाहते है। इससे पहले भी पीएम मोदी अपनी कैबिनेट विस्तार में कई आदिवासी नेताओं को शामिल कर वाह वाही की खूब सुर्खिया बंटोरी थी।

भारतीय जनता पार्टी मंच  के साथ साथ मन में भी आदिवासियों का विचार रखती है। इसको साफ तौर से इस बात से समझ सकते है कि मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की सरकार ने विश्वस्तरीय ख्याति और सुविधा प्राप्त हबीबगंज स्टेशन का नाम 16 वीं शताब्दी में भोपाल की अंतिम गोंड आदिवासी रानी साम्राज्ञी कमलापति के नाम पर रखने की केंद्र सरकार से अनुशंसा की जिसे केंद्र सरकार ने स्वीकार कर अनुमति प्रदान कर दी है।

इससे पहले बीजेपी के कई नेताओं ने हबीबगंज स्टेशन का नाम बदलकर पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर रखने की बात कही थी। सांसद प्रज्ञा सिंह,  प्रभात झा, जयभान सिंह पवैया जैसे तमाम बीजेपी नेताओं ने अटल नाम  रखने की समय समय पर मांग उठायी गई थी, लेकिन मोदी के नेतृत्व में हाई सुविधाओं से लैस स्टेशन का नाम रानी कमलापति करने का निर्णय चुनावी राजनीति में आदिवासी वोट बैंक को साधने का काम करेगा।  

खबरें और भी हैं...