दैनिक भास्कर हिंदी: कार से बरामद हुए 9.53 लाख रुपए, पुलिस को गुमराह करते रहे कार सवार

March 12th, 2019

डिजिटल डेस्क,उमरिया। लोक सभा चुनाव का कार्यक्रम घोषित होते ही आदर्श आचार संहिता लागू हो गई है। आचार संहिता लागू होने के साथ ही जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन सख्त हो गया है। मप्र के उमरिया जिले में वाहन चेकिंग के दौरान जब एक लग्जरी कार को रोका गया, तो उसमें सवार लोगों के पास से 9 लाख 53 हजार 500 रुपए बरामद किए हैं। पुलिस ने जब सवारों से रुपए संबंधित दस्तावेज मांगे, तो चालक पुलिस को गुमराह करते रहे। पुलिस ने नगदी जब्त करते हुए प्रकरण को दर्ज किया है।
सात दिन के अंदर पेश करो दस्तावेज-
इस संबंध में पुलिस ने बताया कि शहर के चंदिया चौराहा में मंगलवार की आधी रात लग्जरी कार से 9 लाख 53,500 रुपए नकदी ले जाते वाहन समेत लोगों को पकड़ा गया है। एफएसटी टीम द्वारा की गई कार्रवाई में नकदी ले जा रहे लोगों के पास रुपए से संबंधित वैध दस्तावेज नहीं दिखाए गए। आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन में टीम ने कैश जब्त कर कोषालय अधिकारी के सुपुर्द कर दिया। सात दिन की निर्धारित समय सीमा में पुख्ता रिकार्ड पेश नहीं किए गए तो उक्त राशि को राजसात कर दिया जाएगा। जब्त रकम 9 लाख 53,500 रुपए बताई जा रही है।
जमीन खरीदने ले जा रहे थे राशि-
बांधवगढ़ तहसीलदार संदीप जयसवाल ने बताया जिले में आदर्श आचार संहिता के प्रभावशील होते ही सीमा क्षेत्रों को सील कर दिया गया है। मंगलवार रात शहर के चंदिया चौक इलाके में वाहन क्रमांक 20टी 5697 में कुछ लोगों द्वारा नकदी ले जाने की सूचना मिली थी। रात 11 बजे से पुलिस टीम ने वाहन रोककर तलाशी ली। इस दौरान चालक पंकज चतुर्वेदी निवासी उमरिया तथा भीतर बैठे सह यात्री ददन प्रसाद पिता झिंगलिया यादव निवासी खमरिया व दो अन्य बैठे हुए थे। प्राथमिक पूछताछ में वाहन सवार लोगों ने बताया वे लोग यह राशि स्टेट बैंक आफ इण्डिया से निकलवाकर जमीन खरीदी कार्य के लिए ले जा रहे थे। जबकि प्राप्त रिकार्ड व नकदी की तलाशी में रुपए के साथ बैंक आफ बड़ौदा की सील मिली। लिहाजा टीम ने उक्त लोगों द्वारा अपर्याप्त जानकारी देने पर नकद को जब्त कर लिया।
संभाग में पहली कार्रवाई-
पुलिस ने बताया कि पकड़े गए लोगों द्वारा नकदी के संबंध में भ्रामक जानकारी दी जा रही थी। उन्होंने बताया वे लोग ग्राम सेमरिया से व्हाया उमरिया होकर खमरिया जा रहे थे। जमीन खरीदी के लिए राशि एसबीआई से निकाली गई थी। बयान व प्राप्त रिकार्ड में अंतर पाए जाने पर संदेह हुआ और जब्त की गई। रात में ही कलेक्टर अमरपाल सिंह, एसपी सचिन शर्मा, एसडीएम बांधवगढ़ नीलांबर मिश्रा सहित तहसीलदार संदीप जयसवाल, दीपक मिश्रा सहित पुलिस अधिकारी की संयुक्त टीम ने अहम भूमिका निभाई। 10 मार्च को लोकसभा चुनाव की आचार संहिता लागू हुई है। महज 24 घण्टे के भीतर कैश जब्त को लेकर यह शंभाग में पहला प्रकरण माना जा रहा है। इसी से जिले में चुनाव की तैयारियों का अंदाजा लगाया जा सकता है।