दैनिक भास्कर हिंदी: पाजिटिव मरीज नहीं कर रहे होम आइसोलेशन का पालन, इसलिए बढ़ रहा कोरोना

March 20th, 2021

डिजिटल डेस्क, नागपुर। कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। उसे नियंत्रित करने में प्रशासन कमजोर पड़ रहा है। महापौर दयाशंकर तिवारी का मानना है कि होम आइसोलेशन का पॉजिटिव मरीज पालन नहीं कर रहे हैं। कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ने का यह सबसे बड़ा कारण है। मनपा ने उनकी निगरानी के लिए उड़नदस्ता तैयार किया है। दरअसल होम आइसोलेशन का पालन नहीं करने वालों का पता लगाने की मनपा के पास कोई ठोस उपाययोजना नहीं है। जब तक कोई सूचना नहीं देता, तब तक उड़नदस्ते को इंतजार करने के सिवा और कोई चारा नहीं है।

प्रभाग स्तर पर 7 सदस्यों की टीम
होम आइसोलेशन मरीजों पर निगरानी के लिए प्रभाग स्तर पर 7 सदस्यों की टीम का गठन किया गया है। टीम में एनडीएस के 2 जवान और अन्य पांच सदस्यों में स्वास्थ्य, शिक्षण तथा अन्य विभागों के कर्मचारी हैं। अपने कार्यक्षेत्र में होम आइसोलेशन मरीजों की उनके पास सूची रहती है। मरीज घर के बाहर मंडराता पकड़ा जाने पर उसके खिलाफ पुलिस में मामला दर्ज करने के साथ ही 5 हजार रुपए जुर्माना लगाने के टीम को अधिकार हैं, परंतु जब तक किसी से सूचना नहीं मिलती, तब तक टीम कुछ भी करने में असमर्थ है।

आरआरटी टीम की निष्क्रियता
हाेम आइसोलेट मरीज के घर पहुंचकर उसके स्वास्थ्य की पूछताछ, उसे औषधि पहुंचाने के लिए जोन स्तर पर आरआरटी टीमों का गठन किया गया है। अनेक मरीजों तक टीम नहीं पहुंच रही है। मनपा भले ही सभी मरीजों को औषधि पहुंचाने का दावा कर रही है, लेकिन आरआरटी टीम नहीं पहुंचने से मरीजों को दवाइयां खरीदनी पड़ रही हैं। होम आइसोलेशन के नियमों का मरीज पालन कर रहे हैं या नहीं, इसकी जानकारी जुटाना भी आरआरटी टीम का दायित्व है। आरआरटी टीम की निष्क्रियता के कारण उड़नदस्ता नागरिकों की सूचना तक ही सीमित है।

सिर्फ दो मरीजों पर कार्रवाई
चार दिन में दो मरीजों पर उड़नदस्ते ने कार्रवाई की। होम आइसोलेशन नियम तोड़ने का उनके खिलाफ आरोप लगाया गया। पुलिस में मामला दर्ज कर 5 हजार रुपए जुर्माना वसूल किया गया।