comScore

दिग्विजय के बयान पर बवाल, मंदिरों के बाहर लगे No Entry के पोस्टर

दिग्विजय के बयान पर बवाल, मंदिरों के बाहर लगे No Entry के पोस्टर

डिजिटल डेस्क, भोपाल। मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के भगवा वस्त्र और मंदिरों में रेप वाले बयान पर हलचल मच गई है। राजधानी भोपाल में देर रात कई मंदिरों के बाहर दिग्विजय के विरोध में पोस्टर लगाए है। पोस्टर में उनके मंदिरों में प्रवेश को प्रतिबंध करने की बात की गई है। मंदिरों के बाहर जो पोस्टर लगे हैं, उनमें पूर्व सीएम को हिंदू विरोधी बताते हुए मंदिरों में प्रवेश बंद करने की मांग की गई है। 

इन पोस्टरों के बाद प्रदेश की सियासत गर्मा गई है। अभी यह साफ नहीं हो पाया कि पोस्टर किसने लगवाए हैं, लेकिन पोस्टर में निवेदक की जगह 'हिंदू समाज' लिखा हुआ है। ये पोस्टर 1250 शिवाजी नगर स्थित परशुराम मंदिर, हनुमान मंदिर, सांई मंदिर सहित कई मंदिरों के बाहर चस्पा किए गए हैं। इससे पहले बुधवार को बीजेपी विधायक विश्वास सांगर ने साधु-संतों और मंदिर प्रशासकों से दिग्विजय सिंह के मंदिर जाने पर प्रतिबंध लगाने की मांग की थी। सांरग ने संतों से अपील की थी कि अगर दिग्विजय मंदिर जाएं, तो उनका बहिष्कार करें। 

बचाव में उतरे मंत्री
दिग्विजय सिंह के बयान के बाद बीजेपी कांग्रेस पर हमलावर हो गई है। वहीं कांग्रेस के कई नेता दिग्विजय सिंह के बयान में उतर आए हैं। कैबिनेट मंत्री गोविंद सिंह ने कहा कि पूर्व सीएम से बड़ा कोई धार्मिक रीति रिवाजों को मानने वाला व्यक्ति प्रदेश में नहीं है। कुछ दिन पहले ही उन्होंने गोवर्धन पर्वत की पैदल परिक्रमा की थी। गोविंद सिंह ने आरोप लगाया कि भाजपा और आरएसएस हिंदू धर्म के नाम पर राजनीति करती है। दिग्विजय का बयान सबके लिए नहीं था, कई लोग है जो भगवा पहनकर गलत कार्य कर रहे हैं।

ये कहा था दिग्विजय 
कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने कहा था कि, भगवा वस्त्र पहनकर लोग चूरन बेच रहे हैं। भगवा वस्त्र पहनकर दुष्कर्म हो रहे हैं। मंदिरों में बलात्कार हो रहे हैं, क्या यही हमारा धर्म है। दिग्विजय ने कहा, जिन लोगों ने हमारे सनातन धर्म को बदनाम किया है, उन्हें भगवान कभी माफ नहीं करेगा। 

कमेंट करें
dgivb