दैनिक भास्कर हिंदी: भीमा कोरेगांव हिंसा: दलित युवकों की गिरफ्तारी रोकने सीएम से मिले प्रकाश आंबेडकर 

January 4th, 2018

डिजिटल डेस्क, मुंबई। भारिप बहुजन महासंघ के नेता प्रकाश आंबेडकर को सीएम देवेंद्र फडणवीस ने पुलिस द्वारा की जा रही दलित युवकों की धरपकड़ को रोकने का आश्वासन दिया है। गुरुवार को प्रकाश के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने सीएम से पुणे की भीमा कोरेगांव हिंसा की घटना के मद्देनजर तीन बिन्दुओं पर चर्चा की। प्रकाश ने सीएम से कहा कि महाराष्ट्र बंद आंदोलन में शामिल दलित युवकों की धरपकड़ के लिए पुलिस द्वारा चलाए जा रहे कॉबिंग ऑपरेशन को तत्काल रोका जाना चाहिए। आंदोलन करने वाले युवक नक्सली नहीं थे। इनकी धरपकड़ नहीं होनी चाहिए। यदि पुलिस के पास हिंसा करते हुए किसी कार्यकर्ता की वीडियो क्लिप है तो उसको हम लोग खुद ही पुलिस स्टेशन में हाजिर कर देंगे। उसके बाद कि कानूनी कार्रवाई का सामना करने के लिए हम तैयार हैं। इसके बाद सीएम ने उन्हें कॉबिंग ऑपरेशन रोकने भरोसा दिलाया है।

संभाजी भिडे और मिलिंद एकबोटे को गिरफ्तार करने की मांग

प्रकाश ने कहा कि हमने भीमा कोरेगांव हिंसा के लिए जिम्मेदार आरोपी संभाजी भिडे और मिलिंद एकबोटे को गिरफ्तार करने की मांग की। पुलिस की रिपोर्ट में भी दोनों के नाम सामने आए हैं। इस पर सीएम ने कहा कि घटना के लिए जिम्मेदार आरोपियों की गिरफ्तारी होगी। प्रकाश ने कहा कि यह देखने वाली बात होगी कि हिंसा भड़काने वाले संभाजी भिडे की गिरफ्तारी होती है या नहीं।

अगले तीन-चार दिनों में जज की नियुक्ति

प्रकाश ने कहा कि सीएम से बाम्बे हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश से मुलाकात हुई है। मुख्य न्यायाधीश ने सीएम को जांच के लिए एक जज देने का भरोसा दिया है। सीएम ने बताया है कि हिंसा प्रकरण की जांच के लिए अगले तीन-चार दिनों में जज की नियुक्ति कर दी जाएगी। प्रकाश ने कहा कि हमने मांग की है कि जांच आयोग को सिविल और क्रिमिनल दोनों अधिकार दिया जाना चाहिए। इस पर सीएम ने कहा कि जज की नियुक्ति का आदेश जारी करते समय ही अधिकार को शामिल किया जाएगा।