दैनिक भास्कर हिंदी: जबलपुर स्टेशन को अल्ट्रा मॉर्डन बनाने की योजना

November 30th, 2018

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। ए-वन श्रेणी के जबलपुर रेलवे स्टेशन को नए साल में मेट्रो लुक देने की तैयारियां शुरु हो गइ हैं। करीब 25 करोड़ रुपए की लागत से जबलपुर रेलवे स्टेशन को री-डेवलेप किया जाएगा, जिसमें विश्व स्तर की अत्याधुनिक तकनीक की मदद से बेहतर यात्री सेवाएं उपलब्ध कराई जाएंगी। पमरे के जीएम अजय विजयवर्गीय ने डीआरएम डॉ. मनोज सिंह के साथ रेलवे इंजीनियरिंग, कॉमर्शियल विंग और अन्य विभागों के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ करीब तीन घंटे तक स्टेशन के री-डेवलेपमेंट प्लान को करीब से जानने के लिए प्लेटफॉर्म नं. 1 से 6 तक कोने-कोने का निरीक्षण किया और अधिकारियों के साथ हर पहलू पर खुलकर चर्चा की। जानकार सूत्रों का कहना है कि नए साल के अप्रैल माह तक स्टेशन के री-डेवपलेपमेंट प्लान पर काम शुरु हो जाएगा। रेलवे बोर्ड ने पमरे के तीन स्टेशंस जबलपुर, हबीबगंज और इटारसी को अल्ट्रा मॉर्डन बनाने की योजना करीब 2 साल तैयार की थी, जिसमें सबसे पहले हबीबगंज स्टेशन का मॉर्डनाइजेशन किया जा रहा है। अब दूसरे चरण में जबलपुर रेलवे स्टेशन का कायाकल्प करने की योजना पर काम शुरु होने की उम्मीद है।

कोलकाता, चेन्नई, हैदराबाद स्टेशन की तर्ज पर विकसित करने की योजना
डिजाइनिंग कंपनियों के प्रप्रोजल को देखा, डिसीजन बाद में कहा जा रहा है कि जबलपुर रेलवे स्टेशन को कोलकाता, चेन्नई, हैदराबाद स्टेशन की तर्ज पर विकसित करने की योजना काफी समय से चल रही है। रेलवे स्टेशन को मेट्रो लुक देने के लिए देश की नामी डिजाइनिंग कंपनियों ने अपने प्रप्रोजल पमरे को भेजे हैं, जिसमें उन्होंने मॉर्डन फैसिलिटीज के साथ सर्कुलेटिंग एरिया को बेहतर बनाने, पार्किंग एरिया को मैनेज करने, एस्केलेटर्स लगाने, फुटओवर ब्रिज, फूड कोर्ट, गार्डन> एरिया, एंटरटेनमेंट जोन, डिजाइजर वेटिंग रूम आदि सुविधाओं के डिजाइन तैयार किए हैं। जीएम श्री विजयवर्गीय ने प्रोजेक्टर पर सभी डिजाइनिंग कंपनियों की प्लानिंग को देखा और उसके बाद एनेक्सी बिल्डिंग की छत पर जाकर सभी प्रप्रोजल्स को करीब से जानने का प्रयास किया। अधिकारियों का कहना है कि अगले चरण में टेंडर जारी कर दिया जाएगा, जिसमें किसी एक बेस्ट डिजाइनिंग कंपनी को जबलपुर रेलवे स्टेशन के री-डेवलेपमेंट की जिम्मेदारी सौंप दी जाएगी।

 

खबरें और भी हैं...