दैनिक भास्कर हिंदी: ट्रेनी आईपीएस अफसरों से PM मोदी ने कहा- फील्ड में रहते हुए आप जो भी फैसले लें, उसमें देशहित होना चाहिए

July 31st, 2021

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। मेरा हर वर्ष ये प्रयास रहता है कि आप जैसे युवा साथियों से मैं बातचीत करूं, आपके विचारों को जानता रहूं। आपकी बातें, आपके सवाल, आपकी उत्सुकता मुझे भी भविष्य की चुनौतियों से निपटने में मदद करती हैं। इस साल की 15 अगस्त की तारीख, अपने साथ आजादी की 75वीं वर्षगांठ लेकर आ रही है। बीते 75 सालों में भारत ने एक बेहतर पुलिस सेवा के निर्माण का प्रयास किया है। पुलिस ट्रेनिंग से जुड़े इंफ्रास्ट्रक्चर में भी हाल के वर्षों में बहुत सुधार हुआ है। आज जब मैं आपसे बात कर रहा हूं तो इन युवाओं को देख रहा हूं जो अगले 25 वर्ष तक भारत में कानून व्यवस्था सुनिश्चित करने में सहभागी होंगे। इसलिए अब एक नई शुरुआत, एक नए संकल्प के इरादे के साथ आगे बढ़ना है। 

आप एक ऐसे समय पर करियर शुरु कर रहे हैं, जब भारत हर क्षेत्र, हर स्तर पर Transformation के दौर से गुजर रहा है।आपके करियर के आने वाले 25 साल, भारत के विकास के भी सबसे अहम 25 साल होने वाले हैं। इसलिए आपकी तैयारी, आपकी मनोदशा, इसी बड़े लक्ष्य के अनुकूल होनी चाहिए। दुनिया भर के अनुभव बताते हैं कि जब कोई राष्ट्र विकास के पथ पर बढ़ता है तो देश के बाहर से और देश के भीतर से चुनौतियां भी उतनी ही बढ़ती हैं। ऐसे में आपकी चुनौती पुलिसिंग को निरंतर तैयार करेगी। आपकी चुनौती क्राइम के नए तौर-तरीकों को उससे भी इनोवेटिव तरीके से रोकने की है।

आपकी सेवाएं देश के अलग-अलग जिलों में होगी, शहरों में होगी। इसलिए आपको एक मंत्र याद रखना है। फील्ड में रहते हुए आप जो भी फैसले लें, उसमें देशहित होना चाहिए, राष्ट्रीय परिपेक्ष्य होना चाहिए। कोरोना के खिलाफ लड़ाई में हमारे पुलिसकर्मियों ने, देशवासियों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम किया है। इस प्रयास में कई पुलिस कर्मियों को अपने प्राणों ही आहुति तक देनी पड़ी है। मैं उन्हें श्रद्धांजलि देता हूं और देश की तरफ से उनके परिवारों के प्रति संवेदना प्रकट करता हूं।
 

खबरें और भी हैं...