दैनिक भास्कर हिंदी: भीमा कोरेगांव मामले में गिरफ्तार प्रोफेसर हैनी बाबू कोरोना संक्रमित

May 14th, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई । भीमा कोरेगांव हिंसा मामले में गिरफ्तार दिल्ली विश्वविद्यालय के सहायक प्रोफेसर हैनी बाबू कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। फिलहाल मुंबई के जेजे अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है। 55 वर्षीय हैनी बाबू को पिछले साल जुलाई महीने में गिरफ्तार किया गया था इसके बाद से ही वे नई मुंबई के तलोजा जेल में बंद थे। उनके परिवार वालों ने उन्हें मल्टीस्पेशालिटी अस्पताल में दाखिल करने की मांग की है। इससे पहले हैनी को आंखों के संक्रमण की शिकायत हुई थी जिसके बाद उन्हें गुरूवार को जेजे अस्पताल में दाखिला कराया गया। 

अस्पताल में दाखिल होने के बाद कोरोना संक्रमण को लेकर जांच की गई तो वे पॉजिटिव पाए गए। अस्पताल प्रबंधन के मुताबिक हैनी बाबू की तबीयत स्थिर है। हालांकि उनके परिवार वालोंं का दावा है कि उन्हें इलाज और जांच के बारे में कोई जानकारी नहीं दी जा रही है। हैनी की पत्नी जैनी रोवेना और परिवार के दूसरे सदस्यों ने बयान जारी कर कहा है कि परिवार को हैनी की जांच और स्वास्थ्य से जुड़ी जानकारी चाहिए जिससे उनकी जान बचाने के लिए जरूरी कदम उठाए जा सके। परिवार ने राज्य के अधिकारियों पर मामले में लापरवाही का आरोप भी लगाया है। परिवार ने राज्य सरकार से मांग की है कि हैनी को मल्टी स्पेशालिटी अस्पताल में दाखिल कराया जाए जिससे उनके कोरोना संक्रमण और आंखों के संक्रमण का एक साथ इलाज हो सके।  बता दें कि 31 दिसंबर 2017 को पुणे के एतिहासिक शनिवार वाडा में एल्गार परिषद का आयोजन किया गया था। आरोप है कि इस दौरान दिए गए भड़काऊ भाषण के चलते अगले दिन भीमा-कोरेगांव युद्ध स्मारक के पास हिंसा भड़क गई जिसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई। पुलिस का दावा है कि इसके पीछे माओवादी संगठनों का हाथ था।  

खबरें और भी हैं...