comScore

खेती आधारित लघु उद्योगों को बढ़ावा, जीडीपी में रहेगा गांव का बड़ा योगदान-गडकरी

खेती आधारित लघु उद्योगों को बढ़ावा, जीडीपी में रहेगा गांव का बड़ा योगदान-गडकरी

डिजिटल डेस्क,नागपुर। देश का सकल घरेलू उत्पाद बढ़ाने में ग्राम आधारित अर्थव्यवस्था का बड़ा योगदान रहेगा। खेती आधारित लघु उद्योगों को बढ़ावा दिया जा रहा है। एग्रो एमएसएमई की संकल्पना पर काम चल रहा है। कृषि क्षेत्र, ग्रामीण भारत, आदिवासी क्षेत्र व आर्थिक तौर पर पिछड़े क्षेत्रों का विकास किया जाएगा। केंद्रीय सड़क परिवहन व एमएसएमई मंत्री नितीन गडकरी ने जानकारी दी। एमएमएमई ट्रांसफार्मेशन पर राष्ट्रीय कार्यदल की एक रिपोर्ट गडकरी ने पेश की। कार्यक्रम के लिए कर्नाटक, मेघालय, उत्तराखंड व पंजाब के मुख्यमंत्री वीडिया कांफरेंिसंग के माध्यम से चर्चा में शामिल थे।

एमएसएमई के उच्च अधिकारी के.पी कृष्णन, रवि वेंकटेशन भी उपस्थित थे। गडकरी ने अंतरराष्ट्रीय एमएमएमई दिन की शुभकामनाएं भी दी।गडकरी ने कहा कि कृषि ग्रामीण क्षेत्र का सकल राष्ट्रीय उत्पाद कम है। पिछड़े व आदिवासी क्षेत्रों में बेरोजगारी व गरीबी की समस्या है। लिहाजा इन क्षेत्राें के विकास पर अधिक ध्यान देने की आवश्यकता है। बड़े शहरों में अधिक उद्योग होने से शहरों में विविध समस्याओं का निर्माण हो रहा है। ग्रामीण क्षेत्र से लोग शहरों में आ रहे हैं। उद्योगों का विकेंद्रीकरण कर ग्रामीण क्षेत्र में उद्योग लाने की आवश्यकता है। राष्ट्रीय महामार्ग प्राधिकरण 22 हरित मार्ग तैयार कर रहा है। इन महामार्गों के पास विविध उद्योग क्लस्टर्स तैयार हो सकते हैं। स्मार्ट विलेज तैयार हो सकते हैं। निर्यात बढ़ाने की दिशा में भी काम हो रहा है। ट्रालर के माध्यम से मत्स्य उद्योग में बदलाव लाया जा सकता है। इससे आर्थिक व्यवस्था में 5 से 6 गुणा बढ़ोतरी होगी।
 

कमेंट करें
HBSv5