तोगड़िया ने साधा निशाना. कहा-: चंद पूंजीपतियों को ही सौंपी जा रहीं संपत्तियां

December 7th, 2021

डिजिटल डेस्क, नागपुर। अंतरराष्ट्रीय विश्व हिंदू परिषद के अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया ने  आर्थिक मामले को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि सत्ताधारियों की आर्थिक नीति ठीक नहीं है। चंद पूंजीपतियों को ही सार्वजनिक संपत्तियां सौंपीं जा रही हैं। भारत को अमेरिका बनाने का प्रयास किया जा रहा है। गरीब और गरीब होता जा रहा है, कुछ कारोबारियों की ही संपत्ति बढ़ रही है। रामराज्य लाने के वादे के साथ सत्ता पाई, लेकिन फिलहाल जो कुछ हो रहा है, वह रामराज्य के अनुरूप नहीं है। 

आर्थिक विकास के नाम पर हिंदू समाज को क्षति : सोमवार को तोगड़िया ने पत्रकारों से चर्चा की। वे 4 दिन के विदर्भ दौरे पर हैं। उन्होंने संगठन के कार्यकर्ताओं से भी संवाद साधा। पत्रकारों से चर्चा में तोगड़िया ने कहा कि सरकार ने विकास का जो मार्ग अपनाया है, वह अनुचित है। राम मंदिर का निर्माण होना स्वागत योग्य है, लेकिन देश में आर्थिक विकास के नाम पर हिंदू समाज को क्षति पहुंचाई जा रही है। किसानों पर कर्ज का बोझ है। जनसंख्या दर को लेकर नियंत्रण नहीं है। हिंदुओं की जनसंख्या वृद्धि दर 2 प्रतिशत है। फिलहाल 140 करोड़ हिंदू हैं, जो इस दर से कालांतर में 100 करोड़ ही रह जाएंगे। लेकिन मुस्लिम जनसंख्या दर 2.50 प्रतिशत की गति से बढ़ रही है। देश इस्लामिक स्टेट बनने की ओर बढ़ रहा है। 

सरकार के भरोसे नहीं रहा जा सकता
तोगड़िया ने मंदिर आंदोलन से जुड़े लोगों के सम्मान का विषय दाेहराते हुए कहा कि शिवसेना के संस्थापक बाल ठाकरे, विश्व हिंदू परिषद के प्रमुख रहे अशोक सिंघल, महंत रामचंद्र परमहंस, महंत अवैधनाथ को भारतरत्न सम्मान प्रदान किया जाना चाहिए। तोगड़िया फिलहाल देश भर में हिंदू जनजागरण के अभियान में लगे हैं। वे गोंदिया के अलावा विदर्भ के अन्य जिलों में भी कार्यकर्ताआें से संवाद करेंगे। उन्होंने कहा है कि हिंदू रक्षा के लिए सरकार के भरोसे नहीं रहा जा सकता है।