दैनिक भास्कर हिंदी: प्रापर्टी विवाद : अपहरण कर फिरौती मांगने वाले कुख्यात रोशन शेख गैंग पर मकोका

June 4th, 2020

डिजिटल डेस्क, नागपुर। विवादित प्रापर्टी के मामले में एक व्यवसायी का अपहरण कर उससे 20 लाख रुपए की फिरौती मांगने और उसके साथ मारपीट करनेवाले कुख्यात अपराधी रोशन कयूम शेख गैंग पर मकोका की कार्रवाई की गई। आरोपियों में रोशन कयूम शेख (काटोल रोड), अंकित पाली (फ्रेंडस कॉलोनी), इरफान खान उर्फ खानू (मानकापुर), अभिषेक सिंह (राजनगर, सदर), सलीम काजी (अवस्थीनगर चौक) और शोयल खान उर्फ सोहेल खान उर्फ रिंकू  खान शामिल हैं। पुलिस आयुक्त डॉ. भूषणकुमार उपाध्याय के आदेश पर बुधवार को यह कार्रवाई की गई। 

फरार आरोपियों की तलाश जारी
पुलिस सूत्रों के अनुसार, धरमपेठ निवासी गौरव दाणी की शिकायत पर रोशन शेख और उसके साथियों के खिलाफ सदर थाने में मामला दर्ज किया गया था।  इस मामले में अब तक 5 आरोपियों की गिरफ्तारी हो चुकी है। गिरफ्तार आरोपियों में रोशन शेख, अंकित पाली, सोहेल खान, सलीम काजी और इरफान खान का समावेश है। फरार आरोपियों की तलाश जारी है।  

दुकान पर थी नजर
पुलिस ने बताया कि गौरव की धरमपेठ के भगवाघर ले-आउट में दुकान है। इस दुकान की जगह को लेकर गौरव का अन्य कुछ लोगों से विवाद चल रहा था। कई अपराधी दुकान में कब्जा जमाने का प्रयास कर रहे थे। रोशन और अंकित की भी इस दुकान पर काफी समय से नजर थी। 2 मई 2019 की दोपहर गौरव सदर के मोती महल रेस्टारेंट में बच्चे के साथ गया था।  इस दौरान आरोपी वहां पहुंचे और जबरन गौरव तथा उसके बच्चे को अपने साथ ले गए। जान से मारने की धमकी देकर 20 लाख रुपए का हफ्ता रोशन और उसके साथियों ने मांगा। आरोपियों ने दुकान उन्हें देने के लिए गौरव पर दबाव बनाते हुए धमकाया और जेब से 11,000 रुपए निकाल लिया। इसके बाद भी लगातार अपराधियों की गैंग ने घर में जाकर कई बार गौरव को धमकाया। तंग आकर गौरव ने पुलिस के पास शिकायत की। अपराध शाखा पुलिस विभाग की यूनिट-2 ने सदर थाने में विविध धाराओं के तहत मामला दर्ज किया।

सीताबर्डी थाने में भी दर्ज हुआ मामला
रोशन और उसकी गैंग पर एक व्यवसायी से फिरौती मांगने का एक और मामला सीताबर्डी थाने में तथा मारपीट का एक मामला अंबाझरी थाने में दर्ज किया गया। रोशन और उसकी गैंग के बढ़ते हौसलों पर लगाम कसने के लिए शहर पुलिस आयुक्त डा. भूषणकुमार उपाध्याय ने पुलिस विभाग के अधिकारियों को सख्त कार्रवाई करने का आदेश दिए। रोशन पर पहले भी हत्या का प्रयास, आर्म्स एक्ट, धमकाकर फिरौती मांगने सहित कई मामले दर्ज हो चुके हैं। अन्य आरोपी भी इन वारदातों में शामिल थे, इसीलिए अतिरिक्त पुलिस आयुक्त डॉ. निलेश भरणे और उपायुक्त राजमाने के मार्गदर्शन में अपराध शाखा पुलिस ने रोशन गैंग पर मकोका लगा दिया। जिस्मफरोशी के कारोबार में भी रोशन की गहरी लिप्तता बताई जाती है।

 बता दें कि गत 8 मई 2020 को गौरव की शिकायत पर यह मामला सदर थाने में दर्ज किया गया। रोशन ने गौरव के साथ जो मारपीट किया था, उसका वीडियो वायरल होने के बाद अपराध शाखा पुलिस हरकत में आई थी। इस मारपीट वाले वीडियो के वायरल होने के बाद ही पुलिस ने रोशन और उसके साथियों को गिरफ्तार किया। अब रोशन और उसके गिरोह पर मकोका की कार्रवाई किए जाने के बाद मामले की जांच सहायक पुलिस आयुक्त सुधीर नंदनवार को सौंपी गई है।