दैनिक भास्कर हिंदी: आंदोलन का 38वां दिनः किसान ने किया सुसाइड, लिखा- दिल्ली बार्डर पर ही मेरा अंतिम संस्कार करना

January 2nd, 2021

डिजिटल डेस्क (भोपाल)। दिल्ली बॉर्डर पर एक और किसान के आत्महत्या करने की खबर है। कड़कड़ती सर्दी से अब तक 50 से ज्यादा किसानों की मौत हो चुकी है। कुछ ने सुसाइड कर लिया तो किसी की तबीयत बिगड़ने से मौत हो गई। लेकिन सरकार अपनी जिद पर कायम है। बताया जा रहा है कि किसान उत्तरप्रदेश का रहने वाला है। गाजियाबाद पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है।  

आत्महत्या करने वाले किसान कश्मीर सिंह ने सुसाइड नोट में लिखा, "कब तक हम सर्दी में बैठेंगे, यह सरकार सुन नहीं रही, इसलिए जान दे रहा हूं ताकि कोई हल निकल सके। मेरा अंतिम संस्कार यहीं कर देना"

वहीं, प्रियंका गांधी ने ट्वीट करते हुए लिखा कि ' सर्द मौसम में दिल्ली बॉर्डर पर बैठे किसान भाइयों की मौत की खबरें विचलित करने वाली हैं। मीडिया खबरों के मुताबिक अभी तक 57 किसानों की जान जा चुकी है और सैकड़ों बीमार है। महीने भर से अपनी जायज मांगों के लिए बैठे किसानों की बातें न मानकर सरकार घोर असंवेदनशीलता का परिचय दे रही है'।

जानकारी के मुताबिक,  गाजीपुर बॉर्डर पर एक किसान ने धरनास्थल पर बने एक शौचालय में फांसी लगाकर आत्महत्या की है। मृतक किसान का नाम कश्मीर सिंह है जो कि यूपी के रामपुर का निवासी बताया जा रहा है। किसान कश्मीर सिंह ने आत्महत्या से पहले लिखे सुसाइड नोट में किसान आंदोलन को लेकर अपनी व्यथा लिखी हुई है। किसान ने लिखा है कि मेरी शहादत बेकार ना जाए और दिल्ली बार्डर पर ही मेरा अंतिम संस्कार करना। 

इससे पहले  साल के पहले दिन 1 जनवरी को भी आंदोलन पर बैठे गाजीपुर सीमा पर एक किसान की दिल का दौरा पड़ने से मौत हुई थी। बागपत जिले के भगवानपुर नांगल गांव के निवासी मोहर सिंह (57) को धरनास्थल पर ही दिल का दौरा पड़ा था, जिसके बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया। यहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। 

 

खबरें और भी हैं...