comScore

महाराष्ट्र भाजपा में शीघ्र फेरबदल, बावनकुले, पोटे, फुके को मिल सकती है जिम्मेदारी

महाराष्ट्र भाजपा में शीघ्र फेरबदल, बावनकुले, पोटे, फुके को मिल सकती है जिम्मेदारी

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  महाविकास आघाड़ी के नेतृत्व की सरकार के विरोध में आंदोलनकारी कदम बढ़ा रही प्रदेश भाजपा में जल्द ही संगठनात्मक फेरबदल किया जा सकता है। प्रदेश के अलावा जिला स्तर पर कमेटियों का विस्तार किया जाएगा। इस पुनर्गठन की प्रक्रिया में कुछ नेताओं को प्रमुख जिम्मेदारी मिल सकती है। इनमें विदर्भ से चंद्रशेखर बावनकुले, प्रवीण पोटे व परिणय फुके के नामों पर प्रमुखता से चर्चा हो सकती है। पार्टी के प्रदेश स्तरीय पदाधिकारी के अनुसार यह मानकर चला जा रहा है कि दीपावली के बाद राज्य में सत्ता परिवर्तन हो सकता है। 105 विधायकों वाली भाजपा में यह बात जोर पकड़ रही है कि सबसे अधिक विधायक होने के बाद भी विपक्ष में रहना ठीक नहीं है।  देवेंद्र फडणवीस के नेतृत्व में 5 वर्ष तक भाजपा राज्य में सत्ता में रही। लंबे समय से सत्ता संघर्ष करती रही भाजपा में उस समय भी ऐसे कई नेता व कार्यकर्ता थे जो सत्ता समायोजन में स्वयं को शामिल कराना चाहते थे।

शहर कार्यकारिणी के पदाधिकारियों के नामों की नहीं हुई घोषणा 
संगठन पर अधिक जोर : विधानपरिषद के चुनाव में नेताओं व कार्यकर्ताओं का असंतोष साफ महसूस किया गया है। ऐसे में भाजपा संगठन पर अधिक जोर देने वाली है। माना जा रहा है कि जुलाई के पहले सप्ताह में ही संगठन विस्तार हो जाएगा। चंद्रकांत पाटील को फरवरी में दूसरी बार प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किया गया। वे जल्द ही कार्यकारिणी का विस्तार करने वाले थे। लेकिन लाकडाउन के कारण कार्यकारिणी विस्तार का मामला लंबित रह गया। लिहाजा अब तक सचिव, उपाध्यक्ष, महासचिव ,कोषाध्यक्ष जैसे पदों पर नियुक्ति नहीं हो पाई है। विविध आघाड़ियों के पदाधिकारी भी नियुक्त नहीं हुए हैं।

यह है संभावना
विधानपरिषद चुनाव में उम्मीदवार बनने से चूके कुछ नेताओं को संगठन में जिम्मेदारी मिल सकती है। पूर्व विधायक मेधा कुलकर्णी के अलावा फडणवीस मंत्रिमंडल के अंतिम विस्तार में जगह पाने वाले आशीष शेलार को भी संगठन में मौका दिया जा सकता है। प्रदेश भाजपा के कोविड अभियान के प्रमुख रहे चंद्रशेखर बावनकुले का भी नियोजन होना बाकी है। इन्हें महामंत्री की जिम्मेदारी मिल सकती है। विदर्भ से जिन नेताओं को संगठन में स्थान मिलने की संभावना है उनमें पूर्व राज्यमंत्री परिणय फुके व प्रवीण पोटे शामिल है। 

कार्यकारिणी का भी विस्तार
भाजपा की शहर कार्यकारिणी में भी विस्तार का विषय लंबित है। प्रवीण दटके के शहर अध्यक्ष बनने के बाद मंडल अध्यक्षों व मंडल महामंत्रियों के नामों की घोषणा तो कर दी गई, लेकिन शहर कार्यकारिणी में महामंत्री के अलावा अन्य पदाधिकारियों के नामों की घोषणा नहीं की गई है। संकेत िदए जा रहे हैं कि 2022 में होने वाले मनपा चुनाव की तैयारी को देखते हुए संगठन में नई जिम्मेदारियां दी जा सकती हैं। 

कमेंट करें
pS1Zg