comScore

पंजाब-हरियाणा में किसानों ने शुरू किया 'रेल रोको' अभियान, दिल्ली से लेकर उत्तर भारत तक असर

पंजाब-हरियाणा में किसानों ने शुरू किया 'रेल रोको' अभियान, दिल्ली से लेकर उत्तर भारत तक असर

डिजिटल डेस्क, अमृतसर। केन्द्र सरकार के कृषि कानूनों के खिलाफ आज किसान संगठन पंजाब-हरियाणा में देशव्यापी रेल रोको अभियान चला रहे हैं। किसान संगठन द्वारा दोपहर 12 बजे से शुरू हुआ रेल रोको अभियान शाम 4 बजे तक चलाया जाएगा। किसानों के आंदोलन को देखते हुए दिल्ली, उत्तर प्रदेश, पंजाब, हरियाणा में सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है। 

किसानों के रेल रोको अभियान का असर दिख रहा है। अंबाला में सैकड़ों की संख्या मे किसान ट्रैक पर बैठ गए हैं, वहीं दिल्ली के आसपास भी किसानों ने ट्रैक पर कब्जा कर लिया है और रेल रोकने की तैयारी है। गाजीपुर बॉर्डर के पास मोदीनगर रेलवे स्टेशन पर भी किसानों का जमावड़ा हो रहा है। अलग-अलग रेलवे ट्रैक पर पुलिस ने भी अपनी मौजूदगी दर्ज करा रखी है और सुरक्षा सख्त है। 

गौरतलब है कि कृषि कानूनों के विरोध में राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में किसान धरने पर हैं। हालांकि, दोनों राज्यों में कहीं भी हिंसा की कोई रिपोर्ट नहीं है। किसान यूनियनों द्वारा शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन का आह्वान करने के अलावा, किसी भी अप्रिय घटना से बचने के लिए रेलवे स्टेशनों पर सुरक्षाबलों की तैनाती बढ़ा दी गई है।  

एक वीडियो में, भारतीय किसान यूनियन (चढ़ुणी) के प्रमुख गुरनाम सिंह चढ़ूनी ने किसानों से अपील की है कि वे अपने-अपने जिलों में निर्दिष्ट स्थानों पर इकट्ठा हों और विरोध को सफल बनाएं। उन्होंने किसानों से यह सुनिश्चित करने के लिए भी कहा कि विरोध शांतिपूर्ण तरीके से हो। एडिशनल डिवीजनल रेलवे मैनेजर (ऑपरेशंस), अंबाला डिवीजन, पंकज गुप्ता ने मीडिया को बताया कि कानून और व्यवस्था के लिए रेलवे सुरक्षा विशेष बल की अतिरिक्त कंपनियां तैनात हैं।

कमेंट करें
GDsxg