दैनिक भास्कर हिंदी: जोधपुर जाएगा रेल विद्युतीकरण प्रोजेक्ट ऑफिस, कर्मचारियों में असमंजस की स्थिति

November 13th, 2018

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। पश्चिम मध्य रेलवे के जबलपुर रेल मंडल स्थित रेल विद्युतीकरण प्रोजेक्ट ऑफिस का स्थानांतरण जोधपुर कर दिया गया है। सूत्रों के अनुसार  30 नवम्बर तक यह कार्यालय बंद हो जायेगा और यहां पर पदस्थ अधिकारी भी जोधपुर जाएंगे। अचानक लिये गये इस निर्णय को आश्चर्यजनक माना जा रहा है। विशेष बात यहा है कि अभी जबलपुर मंडल का विद्युतीकरण का काम भी पूरा नहीं हुआ है।

सूत्रों के अनुसार दीपावली के बाद अचानक रेल विद्युतीकरण संगठन (कोर) इलाहाबाद द्वारा जबलपुर भेजे गये एक फरमान में जबलपुर के चीफ प्रोजेक्ट डायरेक्टर, रेल विद्युतीकरण कार्यालय को जोधपुर स्थानांतरित करने को कहा गया है। लगभग सवा सौ अधिकारी-कर्मचारी पूरे कार्यालय के ही जोधपुर शिफ्ट किये जाने से पसोपेश में फंस गये हैं।

अधिकारी का जाना तय, कर्मचारियों पर असमंजस
निर्णय में कोर इलाहाबाद ने स्पष्ट कहा है कि जो अधिकारी हैं, उन्हें तो जोधपुर जाना ही है, लेकिन कर्मचारियों के बारे में असमंजस की स्थिति बनी हुई है, क्योंकि काफी अधिकारी-कर्मचारी यहां पर रेलवे के दूसरे विभागों से डेपुटेशन पर आये हुए हैं। इन कर्मचारियों को उनके मूल विभाग में भेजा जायेगा, या उन्हें भी जोधपुर जाने को कहा जायेगा यह स्पष्ट नहीं ंहै। हालांकि कर्मचारियों ने चीफ प्रोजेक्ट डायरेक्टर को लिखित पत्र देकर जानकारी चाही है कि उनके बारे में क्या आदेश है, लेकिन आज की तारीख तक इस संबंध में कर्मचारियों को कोई जवाब नहीं दिया गया है। माना जा रहा है कि इसी सप्ताह कर्मचारियों के संबंध में कोई आदेश जारी होगा।

हाल ही में 4 करोड़़ का नया भवन हुआ था तैयार
रेल विद्युतीकरण के मुख्य परियोजना निदेशक का ऑफिस हाल ही में लगभग 4 करोड़ रुपए की लागत से तैयार नये भवन में शिफ्ट हुआ था।  ऐसी स्थिति में अब यह भवन रेलवे को स्थानांतरित किया जायेगा।  वैस भी पिछले दिनों यहां पर मंडल सुरक्षा आयुक्त/आरपीएफ कार्यालय, सहायक मंडल अभियंता कार्यालय को शिफ्ट किया जा चुका था, साथ ही इरकॉन व टीआरडी कार्यालय को भी यहां पर शिफ्ट किये जाने की चर्चा थी।

75 हजार का ग्लो साइन बोर्ड
विद्युतीकरण के मुख्य परियोजना निदेशक कार्यालय को जोधपुर स्थानांतरित करना था, तब यहां पर इतनी मोटी राशि को खर्च करने पर सवाल उठ रहे हैं। एक सप्ताह पहले ही कार्यालय का ग्लो साइन बोर्ड जिसकी लागत लगभग 75 हजार रुपए बताई जाती है, को लगाया गया है।

खबरें और भी हैं...