दैनिक भास्कर हिंदी: ऑनलाइन ठगी का शिकार हुआ रेलवे पुलिस का अधिकारी, लाखों गंवाए

February 16th, 2019

डिजिटल डेस्क,  नागपुर।  साइबर क्राइम की घटनाएं आए दिन सामने आती रहती है बावजूद इसके लोग झांसे में आकर अपने जीवन भर की पूंजी गंवा देते हैं। ऐसा ही एक वाक्या सामने आया जिसमें रेलवे पुलिस का एक अधिकारी फंस गया। ठगों ने अधिकारी को लाखों की चपत लगा दी।  अंतरराज्यीय स्तर पर ऑनलाइन ठगी में लिप्त गिरोह के चंगुल में  फंसे रेलवे पुलिस के अधिकारी को गिरोह ने  झांसा देकर उसके खाते से लाखों रुपए निकाल लिए। बर्डी थाने में आरोपी के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया गया है। साइबर सेल की मदद से इसे सुलझाने का प्रयास किया जा रहा है।

जानकारी के अनुसार पारडी स्थित भालेनगर निवासी गिरीशचंद्र तिवारी (50) रेलवे पुलिस में बतौर एएसआई कार्यरत है। 20 फरवरी 2018 से 7 जनवरी 2019 के दरमियान अज्ञात आरोपी ने गिरीशचंद्र को फोन किया। आरोपी ने गिरीशचंद्र को फोन पर बताया कि वह डी.आर.आय.एम. ऑफिस के एस.एन.टी. विभाग से बात कर रहा  है। इससे गिरीशचंद्र आरोपी के झांसे में आ गए और उसे अपना आधार कार्ड, सीसीवी और एटीएम नंबर की जानकारी दे दी। यह गोपनीय जानकारी देने के तत्काल बाद गिरीशचंद्र के स्टैट बैंक ऑफ इंडिया के  खाते से आरोपी ने करीब सवा लाख रुपए निकाल लिए। रकम निकालने के कुछ दिनों बाद गिरीशचंद्र ने अपना बैंक खाता ही बदलते हुए नया खाता खोला। 

इस वर्ष 4 जनवरी को नए खाते से भी आरोपी ने तीन लाख रुपए निकाल लिए। गिरोह ने गिरीशचंद्र को कुल 4 लाख 22 हजार रुपए का चूना लगाया। इस बीच मामले की शिकायत संबंधित थाने में की गई। जांच में धोखाधड़ी की पुष्टि होने पर गुरुवार को पुलिस ने आरोपी के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया है। घटना को अंतरराज्यीय स्तर पर धोखाधड़ी में लिप्त गिरोह ने झारखंड से अंजाम दिया है। मामले को साइबर सेल की मदद से सुलझाने का प्रयास किया जा रहा है। पुलिस झारखंड जाने की तैयारी कर रही है। उपनिरीक्षक दानडे मामले की जांच कर रहे हैं।