दैनिक भास्कर हिंदी: रेलवे ने अधिकारियों से कहा- बेटा ईमानदार बनो, कामयाबी तो साली झक मारकर पीछे आएगी

October 27th, 2018

डिजिटल डेस्क जबलपुर। बेटा ईमानदार बनो ईमानदार, कामयाबी तो साली झक मारकर पीछे आएगी...., मेरे पास बिल्डि़ंग है, प्रॉपर्टी है, बैंक बैलेंस है तुम्हारे पास क्या है, मेरे पास ईमान है..., जो भ्रष्ट हो गया, समझो मर गया....कुछ इन्हीं डायलॉग के जरिए रेलवे में अधिकारियों व कर्मचारियों को ईमानदारी का पाठ पढ़ाया जा रहा है। पश्चिम मध्य रेवले की बिल्डिंग में इन दिनों पुरानी व नई फिल्मों के किरदारों वाले डायलॉग चस्पा किए गए हैं। भले ही इनसे कर्मचारी व अधिकारी ईमानदारी का पाठ न सीखें, लेकिन ये बैनर पोस्टर सभी के लिए आश्चर्य व चर्चा का विषय जरूर बन गए हैं।

उल्लेखनीय है कि पश्चिम मध्य रेलवे में आगामी 29 अक्टूबर से 3 नवम्बर तक सतर्कता जागरुकता सप्ताह का आयोजन करने जा रहा है। इस आयोजन में पूरे सप्ताह पर रेलवे में भ्रष्टाचार रोकने के लिए तरह-तरह के आयोजन किए जाएंगे, जिसमें रेल कर्मचारियों, अधिकारियों को भ्रष्टाचार मुक्त रेलवे कैसे बनाया जाए, इसके लिए सुझाव भी आमंत्रित किये जाएंगे, साथ ही जीरो भ्रष्टाचार रेलवे हो, इसकी शपथ भी दिलाई जायेगी।

पहली बार किया पमरे ने प्रयोग
पश्चिम मध्य रेल प्रशासन ने पहली बार इस तरह के आयोजनों के लिए फिल्मी कलाकारों के सुप्रसिद्ध डायलॉग्स का उपयोग भ्रष्टाचार के प्रति जागरुकता फैलाने में किया गया है, जिसमें प्रमुख डायलॉग फिल्म दीवार में शशि कपूर से अमिताभ बच्चन कहता है, मेरे पास बिल्डि़ंग है, प्रॉपर्टी है, बैंक बैलेंस है.. आदि... जवाब में शशि कपूर कहते हैं मेरे पास मां  है, लेकिन यहां पर मां नहीं बल्कि शशि कपूर चित्र में कहते दिखाई देते हैं कि भाई मेरे पास ईमान है, वहीं फिल्म शोले, जिसमें अमजद खान यानी गब्बर कालिया से कहते हैं जो डर गया, समझो मर गया, लेकिन रेलवे के डायलाग में कहा गया है कि जो भ्रष्ट हो गया, समझो मर गया. वहीं थ्री ईडीयट्स, पुराने जमाने के कलाकार राजकुमार, अमोल पालेकर-उत्पल दत्त, शत्रुघ्न सिन्हा आदि के पोस्टर में भ्रष्टाचार लिखे डॉयलाग्स, बरबस ही रेलकर्मियों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित कर रहे है।