comScore

राजस्थान में ट्रेलर- जीप की भिड़ंतः मध्यप्रदेश के एक ही परिवार के आठ लोगों की मौत, दो चचेरे भाई 25 दिन पैदल चलकर खाटू श्याम के दर्शन करने पहुंचे थे 

राजस्थान में ट्रेलर- जीप की भिड़ंतः मध्यप्रदेश के एक ही परिवार के आठ लोगों की मौत, दो चचेरे भाई 25 दिन पैदल चलकर खाटू श्याम के दर्शन करने पहुंचे थे 

डिजिटल डेस्क ( भोपाल)। राजस्थान के टोंक ज़िले में मंगलवार देर रात एक ट्रोले की एक गाड़ी से टक्कर हो जाने से 8 लोगों की मौत हुई और 4 घायल हुए हैं। डीएसपी ने बताया, "गाड़ी में सवार लोग खांटू श्याम जी के दर्शन करके जा रहे थे। गाड़ी को एक ट्रोले के टक्कर मारने से 8 लोगों की मौत हो गई, 4 घायलों को जयपुर रेफर किया गया है।"

जानकारी के मुताबिक, मरने वालों में सभी लोग मध्यप्रदेश के रहने वाले हैं। यह परिवार राजस्थान से खाटू श्यामजी के दर्शन करके लौट रहा था। रात में टोंक जिले के सदर थाना इलाके में तेज रफ्तार ट्रेलर और जीप की भिड़ंत में एक ही परिवार के आठ लोगों की मौत हो गई, जबकि चार जख्मी हुए। तीन साल की बच्ची सुरक्षित बच गई। घायलों को इलाज के लिए जयपुर रैफर किया गया है। मृतकों में चार पुरुष, दो महिलाएं और दो बच्चे शामिल हैं। 

हादसा नेशनल हाईवे 52 पर पक्का बंधा इलाके में हुआ। इसमें सवारी गाड़ी पुलिया की दीवार से टकराकर बुरी तरह से पिचक गई। उसमें सवार लोग गाड़ी में ही फंस गए। हादसे में कुछ लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। एक्सीडेंट इतना भीषण था कि हादसे में जीप पिचक गई। इसमें शवों को निकालने के लिए पुलिस और स्थानीय लोगों को काफी मशक्कत करनी पड़ी।

दो चचेरे भाई 25 दिन पैदल चलकर खाटू श्याम के दर्शन करने पहुंचे थे...

हादसे में मरने वाले एक ही परिवार के थे। इसमें दो चचेरे भाई 25 दिन पैदल चलकर खाटू श्याम के दर्शन करने पहुंचे थे। इनका परिवार इन्हें लेने खाटू श्याम आया था। इस हादसे का शिकार बने परिवार का एक सदस्य पीछे की गाड़ी में होने कारण बच गया, लेकिन खाटू श्याम तक पैदल आने वाले दूसरे चचरे भाई और उसके साथ बैठे सगे भाई की मौत हो गई।

बताया गया है कि इस हादसे में दो सगे भाई रामबाबू और श्याम सोनी की मौत हो गई। रामबाबू के एकलौते बेटे नयन और श्याम सोनी के बेटे ललित (पदयात्री) ने भी दम तोड़ दिया। वहीं, ममता और बबली नाम की दो बहनों और ममता के बेटे अक्षत की मौत हो गई। अक्षिता नाम की एक बच्ची ने भी दम तोड़ दिया, जिसकी मां सरिता घायल है। वहीं, सरिता की एक तीन साल की बच्ची नन्नू को हादसे में खरोंच तक नहीं आई।

मुख्यमंत्री चौहान ने इस हादसे पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए अपने शोक संदेश में कहा, राजस्थान में हुई सड़क दुर्घटना में हमारे राजगढ़ के एक ही परिवार के कई भाई - बहनों के असामयिक निधन के समाचार से अत्यधिक दु:ख पहुंचा है। ईश्वर से दिवंगत आत्माओं की शांति और परिजनों को यह वज्रपात सहन करने की शक्ति देने तथा घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना करता हूं।

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस हादसे पर दुख व्यक्त करते हुए कहा यह जानकर दुख हुआ कि खाटू श्याम जी से मप्र के अपने शहर लौटते समय टोंक में एक सड़क दुर्घटना में आठ लोगों की जान चली गई है। शोक संतप्त परिजनों के प्रति मेरी हार्दिक संवेदना।

कमेंट करें
XVYhK
NEXT STORY

Tokyo Olympics 2020:  इस बार दिखेगा भारत के 120 खिलाड़ियों का दम, 18 खेलों में करेंगे शिरकत

Tokyo Olympics 2020:  इस बार दिखेगा भारत के 120 खिलाड़ियों का दम, 18 खेलों में करेंगे शिरकत

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। टोक्यो ओलंपिक का काउंटडाउन शुरु हो चुका हैं। 23 जुलाई से शुरु होने जा रहे एथलेटिक्स त्यौहार में भारतीय दल इस बार 120 खिलाड़ियों के साथ 18 खेलों में दावेदारी पेश करेगा। बता दें 81 खिलाड़ियों के लिए यह पहला ओलंपिक होगा। 120 सदस्यों के इस दल में मात्र दो ही खिलाड़ी ओलंपिक पदक विजेता हैं। पी.वी सिंधू ने 2016 रियो ओलंपिक में सिल्वर तो वहीं मैराकॉम ने 2012 लंदन ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया था।

भारत पहली बार फेंनसिग में चुनौता पेश करेगा। चेन्नई की भवानी देवी पदक की दावेदारी पेश करेंगी। भारत 20 साल के बाद घुड़सवारी में वापसी कर रहा है, बेंगलुरु के फवाद मिर्जा तीसरे ऐसे घुड़सवार हैं जो ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे। 

olympic

युवा कंधो पर दारोमदार

टोक्यो ओलंपिक में भाग लेने जा रहे भारतीय दल में अधिकतर खिलाड़ी युवा हैं। 120 खिलाड़ियों में से 103 खिलाड़ी 30 से भी कम आयु के हैं। मात्र 17 खिलाड़ी ही 30 से ज्यादा उम्र के होंगे। 

भारतीय दल में 18-25 के बीच 55, 26-30 के बीच 48, 31-35 के बीच 10 तो वहीं 35+ उम्र के 7 खिलाड़ी हिस्सा ले रहे हैं। इस लिस्ट में सबसे युवा 18 साल के दिव्यांश सिंह पंवार हैं, जो शूटिंग में चुनौता पेश करेंगे, तो वहीं सबसे उम्रदराज 45 साल के मेराज अहमद खान होंगे जो शूटिंग में ही पदक के लिए भी दावेदार हैं।