दिल्ली में पाठ: राणा दंपत्ति ने हनुमानजी से महाराष्ट्र को संकट से मुक्ति के लिए कामना की

May 14th, 2022

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली । महाविकास आघाडी सरकार और खासकर शिवसेना को धार्मिक मुद्दे पर घेरने में जुटे राणा दंपत्ति ने अपने समर्थकों के साथ शनिवार को यहां के एक हनुमान मंदिर में मीडिया की मौजूदगी में आरती और हनुमान चालीसा का पाठ किया और महाराष्ट्र को संकट से मुक्ति के लिए कामना की। उनके मुताबिक महाराष्ट्र में सबसे बड़ा संकट अगर कोई है तो वह मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे है।

हनुमान चालीसा पठन के मुद्दे पर सुर्खियां बटोर रही राणा दंपत्ति द्वारा यह हंगामा भाजपा के इशारे पर उद्धव ठाकरे को हिन्दू विरोधी साबित करने के लिए खड़ा किया है, ऐसा कहा जा रहा है। लेकिन नवनीत राणा ने कहा कि वे किसी के रिमोट कंट्रोल से नहीं चलते है, चाहे वह भाजपा ही क्यों न हो। उन्होंने कहा कि वे आज हनुमान चालीसा का पाठ इसलिए किए है, ताकि महाराष्ट्र के लोगों को ठाकरे सरकार से मुक्ति मिले। सांसद राणा के मुताबिक वह जब जेल में थी तो हनुमान चालीसा का उन्होंने 101 बार पाठ किया। बहरहाल, उनके हनुमान चालीसा जाप से महाराष्ट्र संकट मुक्त होगा या नहीं, यह आगे देखना दिलचस्प होगा।  

गौरतलब है कि मुंबई में हनुमान चालीसा के पठन के विवाद में जेल से जमानत पर रिहा होने के बाद राणा दंपत्ति सीधे दिल्ली पहुंचे। शायद उन्हें इस बात का एहसास हुआ हो कि दिल्ली में महाराष्ट्र जैसा जोखिम नहीं है। इसलिए वे 9 मई को दिल्ली पहुंचने के बाद तब से यहीं डेरा जमाए हुए है और ठाकरे सरकार के खिलाफ ताल ठोक रहे हैं। लोकसभा अध्यक्ष को उनके साथ जेल में हुए दुर्व्यवहार की शिकायत करने के बाद दोनों ने भाजपा के वरिष्ठ नेताओं से भी मुलाकात की। बुधवार को जब उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर उद्धव ठाकरे पर हमला बोला तो उससे पहले मुंबई भाजपा नेता आशिष शेलार उन्हें शुभकामनाएं देकर जाते हुए देखे गए।

खबरें और भी हैं...