दैनिक भास्कर हिंदी: नागपुर मध्यवर्ती कारागृह में हत्यारोपी किन्नर से रेप

March 24th, 2021

डिजिटल डेस्क, नागपुर। नागपुर मध्यवर्ती कारागृह में बंद हत्यारोपी तृतीयपंथी पर बलात्कार का मामला सामने आया है। किन्नर के अनुसार जेल में ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मी और कैदी उससे बीते कुछ समय से बलात्कार कर रहे हैं। जेल प्रशासन ने भी एक लंबे समय तक उसकी शिकायतों को नजरअंदाज किया। ऐसे में उसने हाईकोर्ट में याचिका दायर कर अपनी व्यथा रखी। मामले में याचिकाकर्ता का पक्ष सुनकर हाईकोर्ट ने प्रतिवादी जेल अधीक्षक और जेल डीआईजी (पूर्व) को नोटिस जारी कर 6 मई तक जवाब मांगा है। साथ ही जेल अधीक्षक को आदेश दिए हैं कि, वे याचिकाकर्ता को धंतोली पुलिस के समक्ष प्रस्तुत करें, ताकि वह आरोपियों के खिलाफ एफआईआर लिखा सके। मामले में याचिकाकर्ता की ओर से एड. राजेश नायक ने पक्ष रखा। 

यह है मामला
 वर्ष 2019 में शहर के बहुचर्चित चमचम हत्याकांड में यह तृतीयपंथी और उसकी टोली चर्चा में आई थी। मामले में कुल 5 तृतीयपंथियों को गिरफ्तार कर जेल के पुरुष बैरक में रखा गया। मामले में अन्य किन्नरों को तो जमानत मिल गई, लेकिन उक्त किन्नर जेल में रह गया। उसकी याचिका के अनुसार उसने कई बार जेल प्रशासन से उसे एक अलग बैरक में रखने की विनती की, लेकिन प्रशासन ने इस पर ध्यान नहीं दिया। इस बीच जेल के कैदी और कुछ पुलिसकर्मी लगातार उसके साथ दुराचार करते रहे। 

याचिका में पीएसआई व कैदियों के नाम
अपनी याचिका में उसने सचिन टिचकुले, पीएसआई कारपांडे, भोसले, कैदी मुकेश यादव और दर्शन सिंह कपूर का नाम लिया है। आरोप है कि, पहले तो जेल प्रशसन ने तृतीयपंथी की शिकायत ही नहीं सुनी, जिसके बाद उसने कई दिन तक भूख हड़ताल की, लेकिन अब तक आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज नहीं किया गया है।  मामले में याचिकाकर्ता ने सत्र न्यायालय को भी पत्र लिखा था, लेकिन कोई हल नहीं निकला। अंतत: उसने हाईकोर्ट की शरण ली है।
 

खबरें और भी हैं...