comScore

राहत : रेमडेसिविर इंजेक्शन का उत्पादन शुरू, शीघ्र वितरण

राहत : रेमडेसिविर इंजेक्शन का उत्पादन शुरू, शीघ्र वितरण

डिजिटल डेस्क, नागपुर। कोविड संक्रमण के संकट के बीच खुशखबर खबर है। वर्धा में रेमडेसिविर इंजेक्शन का उत्पादन शुरू हो गया है। इंजेक्शन के लिए आवश्यक मंजूरी भी मिल गई है। सूत्र के अनुसार, बुधवार या गुरुवार से इसका व्यावसायिक उत्पादन शुरू हो जाएगा और उसके बाद जल्द ही वितरित किया जाएगा। नागपुर व विदर्भ में कोविड संक्रमितों के इलाज के लिए सबसे पहले इसका इस्तेमाल होगा। लोगों को अब इससे हो रही किल्लत से छुटकारा मिल सकेगा।

रोजाना 30 हजार रेमडेसिविर का उत्पादन  
गाैरतलब है कि केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितीन गडकरी की पहल पर इस इंजेक्शन का उत्पादन किया जा रहा है। गडकरी ने भी कहा है कि एक दो दिन में यह इंजेक्शन उपलब्ध होने लगेगा। नागपुर व विदर्भ में कोविड संक्रमण को लेकर बनी गंभीर स्थिति के चलते गडकरी ने इस उत्पादन कार्य के लिए पहल की थी। उन्होंने वर्धा में जेनटेक लाइफसांसेस कंपनी को इस इंजेक्शन के उत्पादन के लिए मंजूरी दिलाई थी। उत्पादन के लिए हैदराबाद से विशेषज्ञों की टीम बुलाई गई। गडकरी के अनुसार, इस उत्पादन केंद्र में रोजाना 30 हजार रेमडेसिविर इंजेक्शन का उत्पादन होगा। इसमें से सबसे पहले नागपुर व विदर्भ को इंजेक्शन उपलब्ध कराया जाएगा। इसके लिए जिला स्तर पर िजलाधिकारी के माध्यम से वितरण व्यवस्था संभाली जाएगी। 

किल्लत से मिलेगी निजात
रेमडेसिविर इंजेक्शन को ऑक्सीजन लेवल संतुलित रखने में सबसे कारगर माना जाता है। इस इंजेक्शन को लेकर देश भर में अफरा-तफरी की स्थिति रही है। कालाबाजारी भी जमकर हुई है। नागपुर में पुलिस ने विविध स्थानों पर छापामारी करके इसके कालाबाजारी में लिप्त लोगों को पकड़ा है। कोविड सेंटर से जुड़े लोगों पर भी आरोप लगे हैं कि अस्पताल कर्मचारी के माध्यम से कालाबाजारी कराई जा रही है। वर्धा में रेमडेसिविर के उत्पादन से विदर्भ में बड़ी राहत मिलेगी। 

कमेंट करें
dtCyp