दैनिक भास्कर हिंदी: यात्रियों से भरी बसों में सीधी टक्कर, एक खाई में गिरी, दो दर्जन से ज्यादा घायल

February 22nd, 2018

डिजिटल डेस्क अनूपपुर । 21 फरवरी की दोपहर लगभग 1.30 बजे शहडोल से समनापुर जा रही भंडारी कंपनी की बस राजेन्द्रग्राम  से 7 किलोमीटर पहले ही किरर घाट पर विपरीत दिशा से आ रही बस से जा टकराई। टक्कर इतनी तेज थी कि भंडारी बस लगभग 100 फिट गहरी खाई में जा गिरी। दोनो ही बसों में लगभग 100 यात्री मौजूद थे। बस के नीचे गिरते ही  चीख-पुकार मच गई। रास्ते से गुजर रहे राहगीरों ने तत्काल इसकी सूचना पुलिस अधीक्षक अनूपपुर सुनील कुमार जैन  को दी, जिसके बाद मौके पर भारी पुलिस बल भेजा गया। घायलों को पुलिस ने रस्सी की मदद से ऊपर खींचा। हादसे में दो दर्जन से ज्यादा लोगों को चोटे आई हैं, इनमें से एक की हालत गंभीर बताई जा रही है।
रफ्तार बनी वजह
राजेन्द्रग्राम से अनूपपुर की ओर आ रही बस क्रमांक एमपी-18-पी-2234 में सवार यात्रियों ने बतलाया कि शहडोल से समनापुर की ओर आ रही बस क्रमंाक एमपी-18-पी-630 इतनी तेज रफ्तार से आ रही थी कि साइड देने के बाद भी वह बस से सीधे ही जा टकराई। इसके बाद भी बस चालक से बस नियंत्रित नहीं हुई और वह सीधे खाई में जा गिरी। टक्कर में दोनों ही बसों के सामने लगे कांच चकनाचूर हो गए और कुछ यात्रियों को भी चोटे आई।
  रस्सियों से उतरी पुलिस
राहगीरों द्वारा अनूपपुर एसपी को मामले की सूचना दी गई जिसके बाद राजेन्द्रग्राम थाना प्रभारी नरेन्द्र पाल, एसडीओपी मलखान ङ्क्षसह, चचाई थाना प्रभारी प्रकाश कोल, एडीशनल एसपी वैष्णव शर्मा दल बल के साथ मौके पर पहुंचे। खाई में बस गिरी होने के कारण व यात्रियों में किसी भी प्रकार की हलचल नहीं दिखने के कारण तत्काल राजेन्द्रग्राम थाना प्रभारी व उनका स्टाफ रस्सियों के सहारे नीचे खाई में उतरा जहां से घायलों को वापस मुख्य मार्ग पर चढ़ाया गया। हादसे में 26 लोग घायल  हुए । अफरा-तफरी के मौहल में घायलों को तत्काल ही अस्पताल भेज दिया गया। किंतु उनका सामान बस में ही रह गया था जिसका बकायदा चिन्हांकन कर पुलिस द्वारा  राजेन्द्र्रग्राम थाने में सुरक्षित रखा दिया  गया है। जिसका भी यह सामान हो वह पहचान बतलाकर थाने से प्राप्त कर सकता है।  पुलिस ने यह सूचना भी चिकित्सालय भिजवा दी है।
झाडिय़ों से टली मुसीबत
किरर घाट पर लगभग 100 फिट गहरी खाई में बस सीधे नीचे न गिरकर झाडिय़ोंं से उलझती हुई धरातल तक पहुंची जिसकी वजह से यात्रियों को मामूली चोटे आई। जिस स्थल पर यह हादसा हुआ है उससे चंद कदमों की दूरी पर ही  सीधी पथरीली ढाल होने के कारण हादसा और भी भयानक हो जाता। 10 घायलों को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र राजेन्द्रग्राम में भी भर्ती कराया गया है।