नागपुर: मानस चौक पर अक्टूबर के बाद यातायात के लिए खुलने वाला है मार्ग

July 25th, 2022

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  शहर के कई भागों में अक्सर जाम की स्थिति देखी जा रही है, लेकिन लोहापुल के पास मानस चौक को पार करना आसान नहीं। इस समस्या को स्थायी रूप से हल करने के लिए यहां नया आरयूबी बनाया जा रहा है। इसका निर्माण अभी तक हो जाना था, लेकिन बारिश के कारण काम रुक गया है। फिर भी अक्टूबर के बाद से यह नई राह यातायात के लिए खुलने वाली है। 

रेंगते हैं यहां वाहन : वर्तमान में लोहा पुल के नीचे बने दो रास्ते हैं। एक रास्ता बर्डी की ओर जाता है, तो दूसरे मार्ग से मानस चौक से होते हुए कॉटन मार्केट की ओर आवागमन होता है। संकरा व नादुरूस्त मार्ग होने से यहां आए दिन जाम लगता है। वाहन धारकों को रेंगते हुए यहां से निकलना पड़ता है। इसी समस्या का हल निकालने के लिए यहां लोहा पुल के बगल में रेल पटरियों के नीचे से एक नए पुल का निर्माण किया जा रहा है। इसका जिम्मा महा मेट्रो के हाथ में दिया गया है। 

बारिश के चलते काम रुका : प्लान में मानस चौक से ठीक लोहा पुल के बगल से एक पुल का निर्माण किया जा रहा है। यहां से यातायात को कॉटन मार्केट की ओर बढ़ाया जाएगा। लगभग 18 करोड़ की लागत से इसका निर्माण हो रहा है। जुलाई 2022 तक इसे पूरा करना था, ताकि मानसून में जाम से निजात मिल सके। बारिश बहुत ज्यादा होने से इसका काम अंतिम चरण में रोका गया है। फिलहाल पुल के दोनों मुहाने पर बहुत ज्यादा पानी जमा हो गया है। पुल के भीतर रोशनाई से लेकर कई काम अभी बाकी हैं। अब इसे पूरा होने के लिए मानसून खत्म होने का इंतजार है।  

ऐसा बनने वाला है   : इस पुल में कुल 2 बॉक्स होंगे। लंबाई 87 मीटर होगी। इसमें 45 मीटर के बॉक्स ही होंगे। पुल की उंचाई लगभग 20 फीट रह सकती है। चौड़ाई 6 मीटर होगी। 

ऐसे मिलेगी राहत  : वर्तमान स्थिति में लोहा पुल से बने दो मार्ग में से एक बर्डी की ओर आने के लिए खुला है। वहीं एक मार्ग कॉटन मार्केट की ओर जाने के लिए खुला है। नया पुल साकार होने के बाद लोहा पुल के दोनों मार्ग बर्डी जाने के लिए खुलेंगे। वहीं, नए पुल से मानस चौक से आने वाला ट्रैफिक कॉटन मार्केट चौक तक जा सकेगा। इससे ट्रैफिक जाम की समस्या से निजात मिलेगी। 

जल्द पूरा होगा काम  : रेलवे के साथ को-आर्डिनेट कर व निधि की उपलब्धता के अनुसार काम हो रहा है। जल्दी इसे पूरा कर यातायात को एक नया रूप दिया जाएगा।  वाहनधारकों को बहुत ज्यादा सुविधा मिलेगी।  -अखिलेश हलवे, डीजीएम (कॉर्पोरेट कम्युनिकेशन), महा मेट्रो नागपुर