दैनिक भास्कर हिंदी: फेक आईडी से ई-टिकट का गोरखधंधा, आरपीएफ ने दी रांझी-दीक्षितिपुरा में दबिश, 5 आरोपी गिरफ्तार

October 25th, 2018

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। फेक आईडी से ई-रेल टिकट का गोरखधंधा करने वाले गिरोह का पर्दाफाश आरपीएफ ने किया है। आरपीएफ ने रांझी और दीक्षितपुरा में अलग-अलग जगह छापामार कार्रवाई करते हुए एक बार फिर ई-रेल टिकट का गोरखधंधा उजागर किया है। आरपीएफ ने 5 लोगों को गिरफ्तार कर फेक आईडी से बनाई गईं 6 लाख 19 हजार रूपए कीमती 655 ई-रेल टिकट के रिकार्ड व टिकटें जब्त की गई हैं। जानकारी के अनुसार आरपीएफ जबलपुर पोस्ट इंचार्ज इंस्पेक्टर वीरेन्द्र सिंह ने टीम के साथ के वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशन में आईआरसीटीसी से समन्वय कर ई-टिकिटों की कालाबजारी के आंकड़े एकत्र कर दीक्षितपुरा, नरसिंह नगर रांझी, आजाद नगर रांझी व सुभाष नगर रांझी पर औचक छापा मारकर कार्रवाई की गई। मामलें में 5 आरोपियों योगेश ढोक पिता प्रहलाद ढोके उम्र 30 वर्ष निवासी आजाद नगर रांझी, संतोष कुमार साहू पिता इंदल प्रसाद साहू उम्र, 40 निवासी, मकान नम्बर 05 महाराजपुर, रजनीश पटेल पिता मुकेश पटेल उम्र 25 वर्ष निवासी नई बस्ती सुभाष नगर रांझी, राजहंस गुप्ता पिता रविशंकर गुप्ता उम्र 32 वर्ष निवासी दीक्षितपुरा कोतवाली तथा सुमित कुमार श्रीवास पिता संतोष कुमार श्रीवास उम्र 29 वर्ष निवासी नरसिंहनगर रांझी को दबोचा। इनके द्वारा फेक आईडी व ई-मेल के माध्यम से बनायी गई करीबन 655 रेलवे की ई-टिकिट (40 यात्रा हेतु वैध टिकिट कीमत 41970/-) जिनकी अनुमानित कीमत 6,19,965/- जप्त कर 05 व्यक्तियों को गिरफ्तार कर रेल अधिनियम की धारा 143 के तहत् अपराध पंजीबद्ध कर मामले को जांच में लिया गया। गौरतलब है कि करेलवे सुरक्षा बल पोस्ट जबलपुर द्वारा ई-टिकिटों की कालाबजारी करने वाले के विरूद्ध कार्यवाही हेतु ज्ज्मिशन तत्कालज्ज्  के तहत प्रधान मुख्य सुरक्षा आयुक्त, मण्डल सुरक्षा आयुक्त अनिल भालेराव के निर्देशन व सहायक सुरक्षा आयुक्त के प्रशांत यादव के नेतृत्व में, निरीक्षक वीरेन्द्र सिंह व टीम द्वारा अभियान चलाया जा रहा है।

टीम में ये रहे शामिल
कार्रवाई करने वाली टीम में आरपीएफ निरीक्षक वीरेन्द्र सिंह, सहायक उप निरीक्षक आईएन बघेल, सहायक उप निरीक्षक लोकेश पटेल, प्रधान आरक्षक शीतल सिंह चैहान, प्रधान आरक्षक संजीव खोसला, क्रांति प्रसाद यादव, प्रधान आरक्षक संजय  सिंह बघेल, प्रधान आरक्षक रामसेवक झारिया, प्रधान आरक्षक शिवराम शर्मा, आरक्षक नवीन पाराशर, आरक्षक अमित सिंह, महिला आरक्षक मंजू देवी व सुनीता देवी शामिल रहे।

खबरें और भी हैं...