दैनिक भास्कर हिंदी: शिवाजी महाराज की मूर्ति की ऊंचाई करने के विरोध में विधानसभा में हंगामा, दो बार  सभा स्थगित  

July 20th, 2018

डिजिटल डेस्क, नागपुर। अरब सागर में शिवाजी महाराज की मूर्ति को लेकर विधानसभा में हंगामा हुआ। दो दिन पहले मुख्यमंत्री देवेन्द्र फड़नवीस ने कहा था कि शिवाजी महाराज की मूर्ति की ऊंचाई कम नहीं होगी। विपक्ष ने कहा कि मुख्यमंत्री ने गलत जानकारी दी है, जबकि हकीकत है कि ऊंचाई कम की जा रही है । यह भी  कहा कि गुजरात में सरदार वल्लभभाई पटेल की मूर्ति को दुनिया में सबसे  ऊंची मूर्ति का दर्जा दिलाने के लिए शिवाजी महाराज की मूर्ति को कम किया जा रहा है। मामले को लेकर विधानसभा में हंगामा हुआ।

इन नेताओं ने किया सरकार की नीति का विरोध
कांग्रेस सदस्य अब्दुल सत्तार ने विधानसभा अध्यक्ष के सामने से  राजदंड लेकर जाने का प्रयास किया । नेता प्रतिपक्ष  राधाकृष्ण विखे पाटील, राकांपा  सदस्य अजित पवार, जयंत पाटिल ने सरकार का विरोध किया । शिवसेना सदस्य प्रताप सरनाइक ने कहा कि विपक्ष भाजपा व शिवसेना में विवाद कराना चाहता है । यह सही है कि केंद्र के पर्यावरण विभाग ने  मूर्ति की ऊंचाई को लेकर  कुछ सुझाव दिए हैं  लेकिन सरकार ऊंचाई कम नहीं करेगी। शिवसेना को मुख्यमंत्री पर भरोसा है। भाजपा  सदस्य आशीष  शेलार ने कहा  कि विपक्ष राजनीति कर रहा है। सरदार पटेल का अपमान करने का प्रयास किया जा रहा है। विपक्ष इस मामले पर मुख्यमंत्री से स्थिति साफ करने की माँग पर अड़ा है।

शिवसेना की भूमिका पर संदेह
 बता दें कि कुछ दिनों पूर्व नाणार प्रोजेक्ट को लेकर भी शिवसेना ने भाजपा का विरोध किया था। मानसून सत्र के दौरान अपनी मांगों को लेकर शिवसेना विधायक आक्रामक रवैया अपनाते दिखे हैं। शुक्रवार को विपक्ष द्वारा अरब सागर में शिवाजी की प्रतिमा की ऊंचाई कम करने का विरोध किया गया। दो दिन पहले मुख्यमंत्री ने इस संदर्भ में आश्वासन दिया था लेकिन विपक्ष उनके आश्वासन पर संतोष नहीं है इसलिए बार-बार सही निर्णय सुनाने की मांग कर रहा है।