comScore

नियमों की अनदेखी महंगी पड़ी, नागपुर के ध्रुव पैथोलॉजी पर 5 लाख का जुर्माना

नियमों की अनदेखी महंगी पड़ी, नागपुर के ध्रुव पैथोलॉजी पर 5 लाख का जुर्माना

डिजिटल डेस्क, नागपुर। कोरोनाकाल में तय नियमों की अनदेखी निजी लैब पर भारी पड़ने लगी है। रामदासपेठ स्थित ध्रुव पैथोलॉजी लैब पर 5 लाख रुपए का अर्थदंड लगाया गया है। साथ ही, अगले आदेश तक जांच का काम भी रोक दिया गया है। मनपा के स्वास्थ्य विभाग को पॉजिटिव मरीजों की जानकारी समय पर नहीं देने पर यह कार्रवाई की गई है। आरोप है कि 5, 6 व 7 सितंबर को ध्रुव पैथोलॉजी लैब में 1407 मरीजों की जांच की गई। मनपा को सिर्फ 571 मरीजों की जानकारी दी गई। 836 मरीजों की जानकारी छुपाई गई।

अतिरिक्त आयुक्त संजय निपाने और वैद्यकीय स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. संजय चिलकर ने आयुक्त की अनुमति पर यह कार्रवाई हुई है। इसके अलावा, शासन की गाइडलाइन का पालन नहीं करने के आरोप में रामदासपेठ के सुविश्वास और धंतोली के मेट्रो लैब को भी नोटिस जारी किया गया है। ऑनलाइन पंजीयन में अंतर, जांच के रियल टाइम का उल्लेख नहीं करना, समय पर रिपोर्ट का ब्योरा मनपा को उपलब्ध नहीं कराने जैसी लापरवाही शामिल है। 

निरीक्षण में लापरवाही उजागर 
मनपा के अतिरिक्त आयुक्त संजय निपाने के नेतृत्व में कोविड जांच की अनुमति वाले पैथोलॉजी लैब का निरीक्षण किया गया। इसमें रामदासपेठ स्थित ध्रुव पैथोलॉजी, सुविश्वास लैब और धंतोली स्थित मेट्रो लैब में आईसीएमआर के दिशा-निर्देशानुसार के अनुसार कुल जांच और उस अनुसार ऑनलाइन पंजीयन में काफी अंतर होने का खुलासा हुआ है। लैब में होने वाली कोविड जांच की भी रियल टाइमिंग का उल्लेख नहीं है। 

कमेंट करें
XowPO