वसूली मामला: सचिन वाझे की पुलिस हिरासत 15 नवंबर तक बढ़ी

November 13th, 2021

डिजिटल डेस्क,मुंबई । मुंबई की एस्प्लेनेड कोर्ट ने वसूली से जुड़े मामले में आरोपी बर्खास्त पुलिस अधिकारी सचिन वाझे की पुलिस हिरासत को 15 नवंबर 2021 तक के लिए बढ़ा दिया है। वाझे की पहले की हिरासत अवधि 13 नवंबर को खत्म हो रही थी। इसलिए उसेकोर्ट में पेश किया गया है। इस दौरान मामले की आगे की जांच के लिए वाझे की हिरासत की मांग की गई। इसके बाद मजिस्ट्रेट ने दो दिन के लिए वाझे की हिरासत अवधि को बढ़ा दिया।  इस दौरान विशेष सरकारी वकील शेखर जगताप ने कहा कि पुलिस वाझे से यह जानना चाहती है कि शिकायतकर्ता से वसूली गई रकम का क्या किया गया। इसलिए वाझे की हिरासत की जरुरत है। उन्होंने कहा कि सोमवार को पूर्व मुंबई पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह के खिलाफ आपराधिक प्रक्रिया संहिता की धारा 82 के तहत एक आवेदन दायर करेगी। जिससे आरोपी सिंह को फरार आरोपी घोषित करने की प्रक्रिया पूरी हो सके। क्योंकि सिंह के खिलाफ विभिन्न अदालतों द्वारा गैर जमानती वारंट जारी किया जा चुका है लेकिन एक बार भी सिंह हाजिर नहीं हुए है।

बयान दर्ज कराना चाहता है बर्खास्त पुलिस अधिकारी 
वहीं वाझे के वकील ने कहा कि मेरे मुवक्किल पर हर तरफ से काफी दबावहै। इसलिए वे मजिस्ट्रेट के सामने 164 के तहत अपना बयान देना चाहते हैं। इस पर मजिस्ट्रेट ने कहा कि वे इसके लिए अलग से आवेदन दायर करे। वाझे व अन्य के खिलाफ इस मामले को लेकर गोरेगांव पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज है। बिल्डर बिमल अग्रवाल ने इस प्रकरण को लेकर पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। शिकायत में अग्रवाल ने आरोपियों पर 11 लाख रुपए की वसूली का आरोप लगाया है। वाझे के अलावा इस मामले में पूर्व मुंबई पुलिस आयुक्त परमवीर सिंह सहित अन्य को भी आरोपी बनाया गया है। पिछले दिनों विशेष अदालत से मिली अनुमति के बाद मुंबई पुलिस की अपराध शाखा ने 1 नवंबर को वाझे को मजिस्ट्रेट कोर्ट के सामने पेश किया था। तब से समय-समय पर वाझे की हिरासत बढ रही है।
 
 

खबरें और भी हैं...