दैनिक भास्कर हिंदी: हड़ताल पर जाने वाले शिक्षकों की रिपोर्ट तलब, सबका वेतन काटेगी सरकार

September 17th, 2018

डिजिटल डेस्क, नागपुर। कई मांगों को लेकर हुई हड़ताल में शामिल शिक्षकों का वेतन काटा जाएगा। शिक्षा विभाग से मिला जानकारी के मुताबिक सरकार ने हड़ताल पर जाने वाले शिक्षकों की मुख्य अध्यापकों से रिपोर्ट मंगाई है। अधिकांश शिक्षकों को इसकी जानकारी नहीं है, लेकिन गोंदिया में वेतन काटने के विरोध में आंदोलन शुरू हो गया है।

हड़ताल पर थे 50 प्रतिशत से अधिक शिक्षक
पिछले दिनों सातवे वेतन आयोग के साथ कई मांगों को लेकर राज्य के सरकारी कर्मचारी 3 दिन की हड़ताल पर चले गए थे, जिसमें शिक्षक भी शामिल हुए थे। पहले दिन हड़ताल को आपेक्षित साथ नहीं मिला। दूसरे और तीसरे दिन साथ मिलता गया। 50 प्रतिशत से अधिक शिक्षकों के हड़ताल में सहभागी होने का शिक्षक संगठनों ने दावा किया था। मांगें नहीं माने जाने पर हड़ताल तेज करने की चेतावनी से सरकार बैकफुट पर आ गई थी। हड़ताल शुरू होने से पहले ही कुछ शिक्षकों ने अवकाश मंजूर करा लिया था। दूसरी तरफ कुछ शिक्षक समय पर अवकाश की अर्जी देकर हड़ताल में शामिल हो गए। कुछ शिक्षकों ने अवकाश का समय भी बढ़वा लिया था। 

वेतन काटने की कार्रवाई शुरू
मुंबई में मुख्य शिक्षा सचिव के साथ शिक्षक संगठनों की चर्चा में हल निकलने पर हड़ताल वापस ले ली गई थी। चर्चा में शिक्षकाें का वेतन नहीं काटने की हामी भरी गई थी। लेकिन, अब वेतन काटने की कवायद चल रही है। नागपुर जिले में भी मुख्य अध्यापकों से हड़ताल में शामिल हुए शिक्षकों की रिपोर्ट मंगवाई जा रही है। हड़ताल में शामिल हुए शिक्षकों का वेतन काटने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। हालांकि, शिक्षक संगठनों को सरकारी कार्रवाई के बारे में अभी तक भनक नहीं लगी है। शिक्षा विभाग ने हड़ताली शिक्षकों का वेतन काटने की कार्रवाई शुरू कर दी है। 

गोंदिया जिले में अांदोलन 
गोंदिया जिले में हड़ताल में शामिल हुए शिक्षकों का वेतन काट लिया गया है। इसके विरोध में शिक्षकों ने आंदोलन छेड़ दिया है। गोंदिया में शुरू हुए आंदोलन के परिणाम नागपुर जिले तक भी देखे जा सकते हैं। 

नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी
हड़ताल में शामिल हुए शिक्षकों की रिपोर्ट मुख्य अध्यापकों से मंगवाई जा रही है। सरकार के निर्देशानुसार वेतन काटने की कार्रवाई की जाएगी।
चिंतामण वंजारी, जिला शिक्षणाधिकारी (प्राथमिक)
 

खबरें और भी हैं...