दैनिक भास्कर हिंदी: बकही में सोन छलनी कर रहे थे रेत माफिया, आठ वाहन जब्त

January 14th, 2019

डिजिटल डेस्क, शहडोल। रेत माफियाओं के हौसले इतने बुलंद हैं कि वे जिल प्रशासन के तमाम नियमों को दरकिनार करते हुए धड़ल्ले से रेत का अवैध उत्खनन कर रहे हैं। हैरानी की बात यह है कि माफियाओं द्वारा अनूपपुर में रेत निकालने की स्वीकृति ली गई है, लेकिन उनके द्वारा शहडोल में सोन नदी से रेत का खनन किया जा रहा है। खनिज विभाग ने छापा मारकर 8 वाहन रेत जब्त कीहै।

सोन नदी पर हो रहा है उत्खनन
बताया जाता है कि अनूपपुर जिले की टीपी पर शहडोल जिले की सीमा से रेत का उत्खनन किया जा रहा है। सोन नदी में दोनों जिलों की सीमा पर स्थित बकही खदान के पास काफी समय से यह खेल चल रहा है। खनिज और राजस्व विभाग की टीम ने कार्रवाई करते हुए शनिवार रात यहां से आठ वाहन जब्त किए हैं। वाहनों को धनपुरी थाने में खड़ा करवाया गया है।

राजस्व विभाग में की थी शिकायत-
अनूपपुर जिले बकही में सोन नदी पर रेत की स्वीकृत खदान है। नदी के बीच से जिले का बॉर्डर माना जाता है। बकही खदान से रेत लगभग खत्म हो चुकी, इसलिए अब शहडोल जिले की सीमा में खमरौद के पास से रात के समय रेत का उत्खनन किया जाता है। यहां से रेत भरकर बकही के रास्ते ही परिवहन किया जाता है। राजस्व विभाग के पास इसकी शिकायत  लगातार आ रही थी। शनिवार को रात करीब आठ बजे राजस्व विभाग और खनिज विभाग की टीम ने बुढ़ार और केशवाही चौकी के पुलिस बल के साथ मौके पर दबिश दी। यहां सोन नदी में शहडोल की सीमा पर रेत उत्खनन चल रहा था। संयुक्त दल ने कार्रवाई करते हुए मौके से आठ वाहन पकड़े हैं। इनमें से कुछ में रेत भरी थी, जबकि कुछ में रेत भरी जा रही थी। सभी वाहनों को जब्त कर लिया गया है। प्रकरण तैयार कर कलेक्टर कोर्ट में प्रस्तुत किया जाएगा।

ये वाहन जब्त किए गए
रात में रेत के अवैध उत्खनन के दौरान आठ वाहन पकड़े गए हैं। वाहन क्रमांक एमपी 52  जीए 0470, एमपी 18 जीए 4361,  एमपी 09 जीए 3150,  एमपी 20 जीए 9944, एमपी 65 जीए 0167, एमपी 18 जीए 4797, एमपी 18 जीए 4799, एमपी 18 जीए 2488, इसके अलावा एक अन्य वाहन पकड़ा गया है, जिसमें कोई नंबर नहीं लिखा था।

रामपुर में कोयला की अवैध खदान
राजस्व विभाग को रामपुर में कोयला की अवैध खदान के संचालन की शिकायतें भी मिली है। बताया जाता है कि यहां से काफी मात्रा में कोयले का उत्खनन किया जा रहा है। बुढ़ार तहसीलदार विकास जैन का कहना है कि रामपुर में एसईसीएल की खदान खुलने वाली है, इसलिए सबसे पहले वहां का सीमांकन कराया जाएगा। कोयला जहां से निकाला जा रहा है, अगर वह जमीन एसईसीएल की होगी तो उन्हें कार्रवाई के लिए कहा जाएगा। अन्यथा खनिज विभाग के साथ मिलकर बटुरा बिछिया की तरह ही वहां के खदानों का समतलीकरण कराया जाएगा।

संयुक्त टीम करेगी कार्रवाई
खनिजों के अवैध उत्खनन, परिवहन और भंडारण पर कार्रवाई के लिए राजस्व, खनिज विभाग और पुलिस की संयुक्त टीम बना दी है। कार्रवाई संयुक्त दल ही करेगा, ताकि खनन माफिया पर पूरी तरह से अंकुश लगाया जा सके। ब्यौहारी, सोहागपुर, जयसिंहनगर और जैतपुर तहसील के लिए अलग-अलग टीम बनाई गई है। टीम में अनुविभागीय अधिकारी राजस्व, अनुविभागीय अधिकारी पुलिस, अनुविभागीय अधिकारी वन, पीसीबी के क्षेत्रीय अधिकारी द्वारा नामित अधिकारी और संबंधित क्षेत्र के खनिज निरीक्षक शामिल रहेंगे। आईजी कुलश्रेष्ठ ने रेत के अवैध उत्खनन/परिवहन के विरुद्ध कार्रवाई करने के लिए माइनिंग, राजस्व, वन और पुलिस की संयुक्त टीम गठित कर कार्रवाई सुनिश्चित करने कहा है।

इनका कहना है
अनूपपुर के बकही में स्वीकृत खदान है, लेकिन रेत शहडोल की सीमा से निकाली जा रही है। इसकी शिकायत आई थी। इसके बाद दबिश देकर मौके से 8 वाहन पकड़े गए हैं।
-फरहत जहां, जिला खनिज अधिकारी

खबरें और भी हैं...