comScore

सतना की भाजपाई मेयर क्या कांग्रेस ज्वाइन करेंगी, कांंग्रेस के लिए उमड़ा प्रेम

February 08th, 2019 16:54 IST
सतना की भाजपाई मेयर क्या कांग्रेस ज्वाइन करेंगी, कांंग्रेस के लिए उमड़ा प्रेम

डिजिटल डेस्क सतना। यहां की मेयर भाजपाई नेता ममता पाण्डे को कांग्रेस प्रेम देखकर भाजपा तो क्या खुद कांग्रेसी नेता भी आश्चर्य में हैं। लोगों को यकीन नहीं हो रहा है कि अपने आप को फायर ब्रांड नेजा कहने वाली ममता पाण्डे के सुर इतनी जल्दी कैसे बदल गए। लोग चर्चा करने लगे हैं कि कहीं यह कांग्रेस में जाने का पूर्वाभ्यास तो नहीं,हालांकि ममता पाण्डें ने ऐसी किसी भी संभावना से इंकार किया है ।

इस संबंध में बताया गया है कि भाजपा की महापौर ममता पांडेय एक बार फिर से सुर्खियों में हैं। धवारी स्टेडियम में गुरुवार को तृतीय कुं.अर्जुन सिंह टी-20 क्रिकेट टूर्नामेंट के समापन अवसर पर अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में मेयर ममता पांडेय ने कुंवर अर्जुन सिंह अमर रहें के नारे लगाते हुए कहा कि वो उनके सगे चाचा थे। महापौर ने कहा कि उनके बेटे अजय सिंह राहुल चुरहट से भले ही चुनाव हार गए हों,लेकिन वो हमारे लिए जीते जैसे हैं। मेयर ने कहा कि राहुल भईया हारे नहीं हैं। इस अवसर पर पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह राहुल भी मंच पर बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित थे।  महापौर ममता पांडेय ने मंच से ही धवारी स्टेडियम का नाम स्व.कुं.अर्जुन सिंह के नाम पर किए जाने की घोषणा भी की। उन्होंने सवाल उठाए कि कुंवर साहब ने हमें, क्या नहीं दिया? अगर उनकी मूर्ति नहीं लगेगी, तो किसकी लगेगी? अगर, उनके नाम पर स्टेडियम का नामकरण नहीं किया जाएगा तो आखिर किसके नाम पर किया जाएगा? महापौर ने कहा कि अब धवारी स्टेडियम पूर्व मुख्यमंत्री स्व.अर्जुन सिंह के नाम से जाना जाएगा।
भाजपा छोड़कर कांग्रेस में जाने से इंकार
वरिष्ठ कांग्रेस नेता और पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह राहुल के साथ मंच साझा करने और इसी दौरान राजनीतिक बयान देने के कारण सुर्खियों में आईं भाजपा की मेयर ममता पांडेय ने सोशल मीडिया पर वायरल इस आशय की अटकलों को काल्पनिक बताया है कि वो जल्दी ही भाजपा छोड़कर कांग्रेस में जा सकती हैं। दैनिक भास्कर से बातचीत में मेयर ने स्पष्ट किया कि वो भाजपा छोडने की बात सपने में भी नहीं सोंच सकती हैं। उन्होंने कहा कि वो भाजपा में हैं,रहेंगी और सिर्फ पार्टी के लिए ही काम करेंगी। अपने वक्तव्यों से जुड़े सवालों के जवाब में महापौर ममता पांडेय ने कहा कि सार्वजनिक जीवन में मंच साझा कर किसी को सम्मान देने की संस्कृति नई नहीं है।  उन्होंने सिर्फ इसी परंपरा का निर्वाह किया है।

कमेंट करें
eOXb6