दैनिक भास्कर हिंदी:  5 हत्याओं का आरोपी 65 हजार का इनामी डाकू गिरफ्तार 

May 10th, 2019

डिजिटल डेस्क, सतना। अपनी बहन के ससुर समेत हत्या की 5 वारदातों में एमपी-यूपी की पुलिस को 11 वर्षों से वांछित 65 हजार के इनामी डाकू भोला यादव को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी के पास से 12 बोर की देशी बंदूक, 13 जिंदा कारतूस, 12 खाली खोखे, 2 मोबाइल, पेन के साथ एक फोन डायरी, 65 सौ की नकदी और दैनिक उपभोग की वस्तुएं भी बरामद की गई हैं। पुलिस अधीक्षक रियाज इकबाल ने बताया कि भोला को एडी एक्ट की स्पेशल कोर्ट में पेश कर एक दिन की रिमांड ली गई है। भोला की गिरफ्तारी के लिए सतना - पन्ना पुलिस ने 30-30 हजार और बांदा पुलिस ने 5 हजार का ईनाम घोषित कर रखा था।

बहन के ससुर का भी कत्ल 
पुलिस अधीक्षक ने बताया कि बरौंधा थाना क्षेत्र के पोखरिहा निवासी 48 वर्षीय आरोपी दस्यु भोला यादव पिता झल्लू ने हत्या की पहली वारदात 2008 में की थी। एक जमीनी विवाद के चलते आरोपी ने गैंग लीडर संता खैरवार के हार्ड कोर मेंबर मिश्रीलाल पंडित (बघोलन) की हत्या कर दी थी और फरार हो गया था।  वर्ष 2011 में पारिवारिक विवाद के चलते भोला यादव ने फतेहगंज थाना अंतर्गत मोहरिया निवासी अपनी बहन के ससुर लाला यादव की गोली मार कर हत्या कर दी थी। भोला यादव का खूनी खेल यहीं खत्म नहीं हुआ। उसने वर्ष 2013 में बरहटा में प्रेम प्रसंग के चलते पहले सुल्तान सिंह गोंड और फिर भरतपुर पड़री में हिमांचल सिंह और महिला हंसी यादव की भी एक साथ गोली मार  कर हत्या कर दी।

5 थानों में दर्ज हैं 13 अपराध 
65 हजार के इनामी डाकू भोला यादव के खिलाफ मध्यप्रदेश और उत्तर प्रदेश के 5 थानों में अपहरण, लूट,हत्या, हत्या की कोशिश, डकैती, रंगदारी , आम्र्स और एडी एक्ट के तहत 13 अपराध दर्ज हैं। जिसमें से सर्वाधिक 7 मामले जिले के बरौंधा 3 मामले मझगवां और एक अपराध सिंहपुर थाने में कायम है। इसके अलावा आरोपी भोला के खिलाफ पन्ना जिले के बृजपुर और यूपी के बांदा जिले के फतेहगंज में एक- एक मुकदमें  दर्ज हैं।

बदले 3 गिरोह 
एसपी ने बताया कि हत्या की पहली वारदात के बाद भोला यादव  मगझवां थाना के बरहटा निवासी बदमाश बाबा गोंड और फतेहगंज थाना अंतर्गत गोडरी गोडरामपुर निवासी राजू गोंड के गिरोह में शामिल हो गया था। वर्ष 2014 में राजू और बाबा गोड़ की गिरफ्तारी के बाद भोला ने  छत्रपाल यादव निवासी माटीचुआ थाना मझगवां और रज्जू यादव पिता महवीरनपुरवा बरौंधा के साथ मिलकर गैंग बना ली थी। छत्रपाल की मौत और रज्जू की गिरफ्तारी के बाद वो गौरी यादव के गिरोह में शामिल हो कर सक्रिय था। 

ऐसे आया पकड़ में 
एसपी रियाज इकबाल के मुताबिक मुखबिर से इस आशय की खबर मिली थी कि 
 डेढ़ लाख के इनामी गैंग लीडर गौरी यादव के गिरोह में सक्रिय 65 हजार का इनामी भोला यादव अपने एक रिश्तेदार के शादी समारोह में शामिल होने के लिए जंगल के रास्ते कर्वी जा सकता है। सूचना की तस्दीक पर  अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक गौतम सोलंकी और चित्रकूट के एसडीओपी वीपी सिंह के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी मझगवां ओपी सिंह, बरौधा के थाना इंचार्ज केएस टेकाम के नेतृत्व में पड़मनिया के खोबरिन जंगल में एम्बूस लगा कर घेराबंदी की गई और अंतत:भोला यादव  गिरफ्तार कर लिया गया।

खबरें और भी हैं...